छत्तीसगढ़ में बारिश से तापमान में आई गिरावट, फसलों को नुकसान

छत्तीसगढ़ में बारिश से तापमान में आई गिरावट, फसलों को नुकसान

SunStarAdmin 06-02-2020

रायपुर : छत्तीसगढ़ में मौसम ने अचानक करवट बदली है। मौसम बदलने से कई इलाकों में बारिश और ओलावर्ष्टि से फसलों को जबरदस्त नुकसान पंहुचा है। बेमौसम बारिश ने धान संग्रहण केंद्रों की पोल भी खोल दी है। बगैर कैपिंग और लापरवाही से रखा धान भीगने से जहां सरकार को लाखों का नुकसान उठाना पड़ेगा वही उन किसानों की हालत भी पतली हो गई है , जो साग सब्जी की पैदावार करते है। रायपुर , दुर्ग , महासमुंद , मुंगेली धमतरी ,बलरामपुर और कवर्धा में सब्जी उत्पादक किसानों को तगड़ा झटका लगा है। फसलों में कीड़े लग गए है और सैकड़ों एकड़ में विभिन्न सब्जियों के पौधे खराब हो गए है। घने कोहरे की वजह से सड़क और हवाई यातायात भी प्रभावित हुआ है। रायपुर एयरपोर्ट पर विमानों की लेट लतीफी से यात्रियों का जमावड़ा लगा हुआ है। कई फ्लाइटें देरी से चल रही है तो कुछ डायवर्ट और रद्द किये जाने की जानकारी लगी है। मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के चलते आने वाले दो दिनों तक बारिश और कई इलाकों में ओलावर्ष्टि की संभावना है। उनके मुताबिक पूर्वी विदर्भ से लेकर छत्तीसगढ़ तक द्रोणिका बने होने से इस तरह के हालात बने है।   

राजधानी रायपुर समेत कई जिलों में काले घने बादल के साथ बारिश जारी है। मौसम विभाग ने आगामी 2 दिनों के लिए कई इलाकों में ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की है। प्रदेश के बलरामपुर जिला और उससे लगे छत्तीसगढ़ के उत्तरी भाग में एक दो स्थानों पर बादल गरजने के साथ ही बारिश की संभावना जताई है। इसी तरह दुर्ग जिले के कई इलाकों में कही छुटपुट तो कही तेज बारिश जारी है।  मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार तक रायपुर और आसपास के इलाकों में बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक उत्तर भारत में चल रही शीत लहर का असर प्रदेश के कई जिलों में देखने को मिलेगा। 

Share This News On Social Media

Facebook Comments

Related News