जलेश्वर महादेव में पुन्यवर्धन महोत्सव के दौरान मंत्रो उच्चारण के साथ हवन पूजन कर दी गई पूर्णाहुति

जलेश्वर महादेव में पुन्यवर्धन महोत्सव के दौरान मंत्रो उच्चारण के साथ हवन पूजन कर दी गई पूर्णाहुति

SunStarAdmin 02-03-2020

अनीश राजपूत,

बालोद : जलेश्वर महादेव में पिछले 4 दिनों से पुन्यवर्धन महोत्सव का आयोजन किया गया। इसके तहत सोमवार को चौथे व् अंतिम दिन दशोदी तालाब में कोलकाता नव पंडितो द्वारा मंत्रो उच्चारण के साथ हवन पूजन कर पूर्णाहुति दी गई। इस दौरान जलेश्वर महादेव के प्रमुख यज्ञदत्त शर्मा व् उनकी पत्नी रजना शर्मा यज्ञ में हवन पूजन कर पूर्णाहुति देकर क्षेत्र की जनता के लिए अमन चैन व् सुख सम्रद्धि की कामना की।वही श्रीपूर्णयवर्धन उत्सव मंत्र अर्पण महोत्सव के अवसर पर सोमवार को पूजा अर्चना व् मंत्रो उच्चारण के साथ विशाल शिव लीग पर मनोरथ भोग लगाया ।शब्द नही अनुभव कक्ष में साल भर से ओम नम: शिवाय मंत्र लेखन करने वाले परिवार के परिजनों को माँ जी फाउंडेशन द्वारा गुलाब का फूल ,थाल में प्रसाद व् बोतल में महाभिषेक जल का वितरण किया गया ।                     

मंत्र लेखन पुस्तिका शिव कुण्ड में अर्पित

जलेश्वर महादेव में सुबह हवन पूजन कर पूर्णाहुति सम्पन होने के बाद जलेश्वर महादेव में लिखे गए 3 करोड़ से अधिक ओम नम: शिवाय का अर्पण शिव कुण्ड में किया गया। हवन पूजन के बाद शिव की महाआरती की गई जिसके बाद दशोदी तलाब के चारो ओर खड़े होकर महिलाए ,पुरष व् बच्चों द्वारा शिव के जलधरि में अर्पण किए गए मंत्रो को रस्सी से स्पर्स कर धीरे धीरे शिव कुण्ड के जल में अर्पण किया गया ।इस दौरान जल में मंत्र समर्पण होते ही भक्तो ने जलेश्वर महादेव व् हर हर महादेव के जयधोष किया जिससे पूरा दशोदी परिसर शिव मय हो गया ।भक्तो ने साल भर से श्रध्दा और लगन के साथ ओम नमः शिवाय का लेखन कर सोमवार को शिव को समर्पित किया जिससे कुछ देर के लिए भक्त भावुक हो गए थे।।     

 जलेश्वर महादेव में पिछले 8 वर्षो से निरंतर ओम नमः शिवाय मंत्र लेखन का कार्य किया जा रहा हैं  वहीँ भक्त की अपार श्रद्धा उमंग के चलते आने वाले वर्ष 2021 के लिए ओम नम: शिवाय मंत्र लेखन का कार्य भी प्रारभ हो चूका हैं । शब्द नही अनुभव कक्ष में महिला व् पुरुष दो अलग अलग कक्षो में बैठकर ओम नम: शिवाय लेखन का कार्य कर रहे हैं ।मंत्र लेखन कार्य में शामिल होने वाले भक्तो के लिए माँ जी फाउंडेशन द्वारा  कापिया व् पेन निशुल्क उपलब्ध कराई जाती हैं ।      

आजीवन चलेगा मंत्र लेखन          

जलेश्वर महादेव के प्रमुख यज्ञदत्त शर्मा ने बताया की समापन के बाद भी ओम नम: शिवाय मंत्र लेखन आजीवन चलेगा,भक्तो के लिए शब्द नही अनुभव मंत्र लेखन कक्ष हमेशा खुला रहेगा।वहीँ नववें अभिषेक के लिए शुभारभ भी हो चूका हैं ।आठवे चरण में 3 करोड़ से अधिक मंत्र हो गए थे जिसे शिव लीग के कुण्ड में अर्पित किया जा चूका हैं। इसी मंत्रो से समाहित हुए जल को भक्तो को बोतल में भरकर वितरण किया गया हैं ।समिति के अध्यक्ष विनोद कौशिक ने बताया की समारोह में भक्तो ने पुरे उत्साह और लगन से ओम नम: शिवाय मंत्र लेखन किया हैं ।इसके बाद श्रद्धा भाव से महादेव को मंत्र अर्पित किया गया हैं, अम्बाभाई पटेल ने कहा की ओम नम: शिवाय लिखने से शांति मिलती हैं । मुरारी लाल चंदन  ने कहा की मनुष्य जीवन सार्थक व् अंतिम उद्देश्य की प्राप्ति सम्भव हैं इसलिए लोग जुड़े हुए हैं और लोग जुड़ चुके हैं ।

Share This News On Social Media

Facebook Comments

Related News