नवविवाहिता की हत्या मामले में सास ससुर व पति गिरफ्तार

नवविवाहिता की हत्या मामले में सास ससुर व पति गिरफ्तार

SunStarAdmin 21-03-2020

 अनीश राजपूत,

बालोद : बीते 30 अगस्त को एक नवविवाहिता  की संदिग्ध अवस्था मे मौत के मामले में पुलिस ने आरोप पति कुलदीप मालेकर व मालेश्वरी के सास ससुर को गिरफ्तार कर लिया है।

:-पुलिस ने किया मामले का खुलाशा, कहा दहेज को लेकर मालेश्वरी को सास ससुर व पति द्वारा किया जाता था शारिरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित।

:-फॉरेंसिक टीम की रिपोर्ट सामने आने के बाद एस डी ओ पीबलोड के नेतृत्व में गठित विशेष जांच टीम ने किया हत्या का खुलाशा।

:-6 माह पूर्व मृतिका के पिता ने हत्या करने का संदेह कर एस पी व आई जी से की थी जांच की मांग।

ये है पूरा मामला:-

ज्ञात रहे कि 10 मई को मालेश्वरी की शादी डौंडीलोहारा निवासी कुलदीप से हुई थी।उसकी अचानक मौत के बाद स्थानीय चिकित्सक ने उसकी मौत को सामान्य बता दिया था।लेकिन मृतिका के मायके पक्ष के परिजनों को संदेह था कि कुछ दिन पूर्व मायके से ससुराल गयी बेटी स्वस्थ थी तो उसकी मौत कैसी हो गयी।इसके बाद  परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने फॉरेंसिक जांच करवाने सैंपल भेजा था।जहां से रिपोर्ट आने के बाद मामला संदिग्ध आने के बाद पुलिस अधीक्षक एम एल कोटवानी के  निर्देशन में  बालोद एस डी ओ पी अमर सिदार,सी एस पी दल्लीराजहरा अलीम खान व डौंडीलोहारा थाना प्राभारी राजेन्द्र प्रसाद यादव ने कार्यवाहि कर तीनो आरोपियों को गिरफ्तार किया।

पति ,व सास ससुर किये गए गिरफ्तार:-

पुलिस ने मामले में आरोपी पति कुलदीप मालेकर पिता अमोल सिंह मालेकर,ससुर अमोल सिंह मालेकर व सास उषा बाई के विरुद्ध धारा 302,304 बी(दहेज हत्या),34 भादवी ते तहत अपराध दर्ज कर तीनो को गिरफ्तार कर लिया है।

इस तरह हुआ मामले का खुलाशा:-

मामले में जानकारी देते हुए एस डी ओ पी अमर सिदार ने बताया कि मामले में परिजनों द्वारा अपनी बेटी की हत्या करने की बात कहने पर विशेष टीम द्वारा पुनः बारीकी से जांच प्रारम्भ की गई।मेडिकोलीगल एक्सपर्ट की सहायता से घटना स्थल का निरीक्षण,गवाहों से पुनः पूछताछ की गई व सभी तथ्यों की बारीकी से जांच की गई।तकनीकी साक्ष्यों व परिश्थिति जन्य साक्ष्यों के आधार पर  आरोपी पति  कुलदीप मालेकर पिता अमोल सिंग मालेकर(25 वर्ष), निवासी वार्ड 5 टीकरापारा से बारीकी से पूछताछ की गई।कड़ाई से पूछताछ पर उसने अपना अपराध कबूल किया।

इस तरह दिया हत्या को अंजाम,दहेज के लिए करते थे प्रताड़ित:-

मामले में बालोद एस डी ओ पी अमर सिदार ने पत्रिका को बताया की आरोपी एवम उसके परिवार द्वारा विवाह के पश्चात लगातार दहेज कम लायी हो कहकर मालेश्वरी को मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया जाता था।बार बार उसे घर से और दहेज ,समान व पैसे लाने कहा जाता था।मना करने पर पति ने मालेश्वरी की हत्या की योजना बनाइ तथा 30 व 31 अगस्त की रात्रि मालेश्वरी की गला दबाकर हत्या कर दी।

इसके बाद हत्यारे पति ने  अपने माता पिता के साथ मिलकर अपनी पत्नी के बीमारी से मौत होने की कहानी गढ़ी।मालेश्वरी के मृत शरीर को शासकीय चिकित्सा लय डौंडीलोहारा लाया तथा बीमारी से मौत होने बताकर फिर से अपने घर ले गया।घर पर ही पंचनामा की कार्यवाहि हुई तथा पी एम करवाया गया।पुलिस व परिजनों को यह मामला पहले से ही संदेहास्पद लग रहा था।जिसके कारण बालोद एस डी ओ पी अमर सिदार के नेतृत्व में दुबारा पूरे मामले की बारीकी से जांच की गई।जिसके बात पति ने हत्या करना स्वीकार किया।

ज्ञात रहे कि मामले का खुलासा कण्व में पिछले दो दिनों से बालोद एस सी ओ पी अमर सिदार के नेतृत्व में पुलिस टीम ने कडी मेहनत की तथा मामले से जुड़े  सभी बिंदुओं पर बारीकी से जांच की ।इस दौरान सी एस पी राजहरा अलीम खान,निरीक्षक कुमार गौरव साहू,डौंडीलोहारा थाना प्रभारी राजेन्द्र प्रसाद यादव,,प्रधान आरक्षक रूमलाल चुरेन्द्र,आरक्षक संदीप यादव व मिथलेश यादव का विशेष योगदान रहा।

विशेष जांच टीम की एस डी ओ पी,अमर सिदार ने बताया की "शुरुवात से ही पूरा मामला संदेह के दायरे मे था।फॉरेंसिक रिपोर्ट आने के बाद पिछले दो दिनों से मामले से जुड़े सभी बिंदुओं पर पुनः बारीकी से जांच की गई।मालेश्वरी के पति से कडाई से पूछताछ करने पर उसने हत्या करना स्वीकार किया।पूरी कार्यवाहि में पुलिस टीम का योगदान सराहनीय रहा।"




Share This News On Social Media

Facebook Comments

Related News