मुख्यमंत्री की शपथ लेने से पहले हेमंत सोरेन की जनता से अपील, दिया एक शानदार आइडिया

मुख्यमंत्री की शपथ लेने से पहले हेमंत सोरेन की जनता से अपील, दिया एक शानदार आइडिया

SunStarAdmin 27-12-2019

नई दिल्ली: झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election) में झामुमो (JMM) प्रमुख हेमंत सोरेन (Hemant Soren) की गठबंधन पार्टी ने बहुमत हासिल करते हुए बीजेपी सरकार को सत्ता से हटा दिया है. अब हेमंत सोरेन रविवार 29 दिसबंर को झारखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं. झारखंड में हेमंत सोरेन के प्रशंसक उन्हें चुनाव में मिली जीत के लिए बुके भेजकर बधाई दे रहे हैं. ऐसे में हेमंत सोरेन ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर अपने प्रशंसकों और जनता से अलग अंदाज में अपील की है कि उन्हें बुके की बजाय बुक (पुस्तक) भेजें.

झामुमो (JMM) प्रमुख हेमंत सोरेन ने ट्वीट में लिखा, ''साथियों, मैं अभिभूत हूं आप झारखंडवासियों के प्यार एवं सम्मान से. पर मैं आप सबसे एक करबद्ध प्रार्थना करना चाहूंगा कि कृपया कर मुझे फूलों के ‘बुके' की जगह ज्ञान से भरे ‘बुक' मतलब अपने पसंद की कोई भी किताब दें. मुझे बहुत बुरा लगता है कि मैं आपके फूलों को सम्भाल नहीं पाता.''

उन्होंने अपने एक और ट्वीट में लिखा, ''आप अपने द्वारा दिए गए किताबों में अपना नाम लिख कर दें ताकि जब हम आपकी किताबों को सम्भाल एक लाइब्रेरी बनवाएंगे- और आपका प्रेम भरा यह उपहार हमेशा हम सभी का ज्ञानवर्धन करेगा.''

29 दिसंबर को लेंगे शपथ
जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने मंगलवार की रात राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश किया था. हेमंत सोरेन ने रात पौने नौ बजे बाबूलाल मरांडी की पार्टी झाविमो के विधायकों समेत पचास विधायकों के साथ राज्यपाल मुर्मू से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश किया. इस मौके पर उनके साथ झामुमो प्रमुख शिबू सोरेन, कांग्रेस के झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह, राजद नेता तेजस्वी यादव और कांग्रेस हाईकमान द्वारा नियुक्त केन्द्रीय पर्यवेक्षक टीएस सिंहदेव भी उपस्थित थे. राज्यपाल ने उन्हें शपथ ग्रहण के लिए 29 दिसंबर की अपराह्र एक बजे का समय दिया है और समारोह का आयोजन रांची के मोरहाबादी के मैदान में होगा.

जेएमएम गठबंधन को स्पष्ट बहुमत
23 दिसंबर को आए चुनाव परिणामों में विपक्षी गठबंधन ने 81 सदस्यीय विधानसभा में 47 सीटें जीतकर स्पष्ट बहुमत हासिल कर लिया था, जबकि बाबूलाल मरांडी के झारखंड विकास मोर्चा ने भी अपने तीन विधायकों का समर्थन हेमंत सोरेन की सरकार को बिना शर्त देने की घोषणा कर दी है. गठबंधन में जहां झामुमो को 30 सीटें जीतने में सफलता मिली, वहीं कांग्रेस ने 16 और राजद ने एक सीट जीती है.

सत्ताधारी भाजपा ने 25 सीटों पर जीत दर्ज की, जबकि 2014 के चुनावों में उसे 37 सीटें मिली थीं और उसके सहयोगी आजसू को पांच सीटें मिली थीं. इस बार के चुनावों में आजसू ने अलग से उम्मीदवार उतारे जिसका खामियाजा उसके साथ भाजपा को भी उठाना पड़ा. आजसू को इन चुनावों में 53 सीटों पर उम्मीदवार उतार कर सिर्फ दो सीटें जीतने में सफलता मिली.

Share This News On Social Media

Facebook Comments

Related News