मजदूरों की सुरक्षा संरक्षण के लिए सदैव तत्पर जिला प्रशासन, बाहर जिले के फंसे मजदूरों का रखा जा रहा ध्यान : बालोद कलेक्टर

मजदूरों की सुरक्षा संरक्षण के लिए सदैव तत्पर जिला प्रशासन, बाहर जिले के फंसे मजदूरों का रखा जा रहा ध्यान : बालोद कलेक्टर

SunStarAdmin 18-04-2020

अनीश राजपूत,

बालोद : कोरोना संक्रमण को लेकर पूरे देश में लॉक डाउन लागू है ऐसे में बालोद जिला भी इससे अछूता नहीं है इस दौरान कई मजदूर बाहर जिलों एवं बाहर प्रदेश से जिले में फंसे हुए हैं परंतु बालोद कलेक्टर रानू साहू की संवेदनशीलता के बदौलत नगर पंचायत और ग्राम पंचायत में ऐसे लोगों को स्थान दिया गया है कलेक्टर ने बताया कि लगातार हम उनके सुरक्षा और रहन-सहन का मॉनिटरिंग कर रहे हैं जो जहां है वह वही रहे जिला प्रशासन सदैव सभी के लिए कार्य कर रही है आपको बता दें कि जिला प्रशासन द्वारा अनाज बैंक की भी शुरुआत की गई है जिसके माध्यम से अब तक 5000 से अधिक लोगों को राहत सामग्री दी जा चुकी है के बदौलत नगर पंचायत और ग्राम पंचायत में ऐसे लोगों को स्थान दिया गया है कलेक्टर ने बताया कि लगातार हम उनके सुरक्षा और रहन-सहन का मॉनिटरिंग कर रहे हैं जो जहां है वह वही रहे जिला प्रशासन सदैव सभी के लिए कार्य कर रही है आपको बता दें कि जिला प्रशासन द्वारा अनाज बैंक की भी शुरुआत की गई है जिसके माध्यम से अब तक 5000 से अधिक लोगों को राहत सामग्री दी जा चुकी है।

बालोद जिले में अन्य राज्यों के फंसे मजदूरों के सुरक्षा संरक्षण के लिए जिला प्रशासन द्वारा लगातार कार्य किया जा रहा है कलेक्टर रानू साहू ने जानकारी देते हुए बताया कि ग्राम पंचायत एवं नगर पंचायत स्तर पर उन्हें रूकने एवं राशन भोजन आदि की व्यवस्था कराई गई है प्रदेश के 400 मजदूर ऐसे हैं जो कि छत्तीसगढ़ राज्य के हैं जो कि अन्य जिलों के हैं उन्हें बालोद में पूरी सुविधा दी जा रही है और उनके स्वास्थ्य एवं सुरक्षा संरक्षण का ध्यान रखा जा रहा है उनके जीवन यापन में किसी तरह की कोई समस्या ना आए इसके लिए जिला प्रशासन पूरी तरह प्रतिबद्ध है बालोद कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने बताया कि 840 मजदूर ऐसे हैं जो कि बिगर राज्यों से है और हमारे जिले में हैं उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी है सभी का ध्यान रखा जा रहा है बस हम उन से निवेदन कर रहे हैं कि वे जहां है वही रहे उन्हें किसी तरह की कोई तकलीफ होने नहीं दिया जाएगा।

10 लाख से अधिक का राशन वितरित

जिला कलेक्टर ने बताया कि अनाज बैंक के माध्यम से अब तक 1000000 रुपए का राशन वितरित किया जा चुका है यह हमारे लिए गर्व की बात है कि बड़ी संख्या में जिले के नागरिक दान करने आगे आ रहे हैं प्रत्येक व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी निभा रहा है और जिला प्रशासन का सपोर्ट कर रहा है इससे हमें लॉक डाउन के दौरान बेहतर से बेहतर करने की क्षमता मिली है।

Share This News On Social Media

Facebook Comments

Related News