बिहार : विधानसभा चुनाव से पहले MY समीकरण की जगह BY समीकरण चर्चा में, जानिए वजह...

बिहार : विधानसभा चुनाव से पहले MY समीकरण की जगह BY समीकरण चर्चा में, जानिए वजह...

SunStarAdmin 07-03-2020

पटना : बिहार के MY यानी मुस्लिम और यादव समीकरण के बारे में आपने जरूर सुना होगा। इसी समीकरण के सहारे आरजेडी 15 साल तक राज्य की सत्ता में रही. ईवीएम से जिन्न निकलता रहा, लेकिन अब बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले MY की जगह BY समीकरण की चर्चा हो रही है. इसकी शुरुआत बिहार सरकार में श्रम संसाधन मंत्री विजय सिन्हा ने की है. उनका कहना है कि अब तक भले ही नहीं हुआ हो लेकिन राजनीति में किसी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता. बाई यानी भूमिहार और यादव का समीकरण आगामी विधानसभा चुनाव में बन सकता है। 

इस समीकरण का नेता कौन होगा, इसके जवाब में विजय सिन्हा दार्शनिक अंदाज में जवाब देते हैं, लेकिन जब उन्हें अहसास होता है, तो वो 'सबका साथ और सबका विकास' की बात करने लगते हैं. कहते हैं कि सबका साथ लेकर ही पीएम मोदी 303 सीटें देश में ले आए. वहीं आरजेडी के वरिष्ठ नेता ललित यादव भी बाई समीकरण से इनकार नहीं करते हैं. कहते हैं कि राजनीति में कुछ भी हो सकता है, लेकिन समीकरण कब बनेगा? इसके सवाल पर कहते हैं कि अभी गुंजाइश नहीं है। 

भूमिहार-यादव समीकरण को लेकर राजनीतिक प्रतिक्रियाएं भी आई हैं. आरजेडी नेता और विधायक समीर महासेठ ने कहा, "हम लोग इस सब के फेर में नहीं पड़ते. अब भाजपा के जाने की बारी है, इसलिए गंगास्नान करके शुद्धिकरण कर लेना चाहिए। 

भाजपा नेता और विधायक सचींद्र प्रसाद सिंह ने कहा, "बिहार में पहले से भूमिहार और यादव समीकरण बना है. लोकसभा चुनाव से 50 फीसदी से ज्यादा यादवों ने बीजेपी को वोट दिया." जेडीयू विधायक विजय यादव ने कहा, "बिहार में सिर्फ नीतीश कुमार ही समीकरण है. नीतीश कुमार जहां रहेंगे, वहीं समीकरण रहता है। 

जेडीयू विधायक ललन पासवान ने इस संभावित समीकरण पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "भूमिहार और यादव का समीकरण नहीं बन सकता है. बांग्लादेश और पाकिस्तान जैसे साथ साथ नहीं मिल सकते, वैसे ये समीकरण भी नहीं बन सकता है. ये उत्तरी और दक्षिणी ध्रुव की तरह हैं, जो साथ नहीं आ सकते."  बीजेपी विधायक तारकेश्वर प्रसाद ने पार्टी नेताओं के बयान से किया किनारा. उन्होंने कहा, "हम सबको साथ लेकर चलते हैं.  सबको साथ लेकर हम राजनीति करते रहे हैं. समाज के पिछड़े वर्ग को कैसे अधिकार मिले, इस पर काम करते हैं। 

Share This News On Social Media

Facebook Comments

Related News