तीन लाख भारतीयों को ट्रेंड करने के लिए FB ने लॉन्च की डिजिटल साक्षरता लाइब्रेरी

तीन लाख भारतीयों को ट्रेंड करने के लिए FB ने लॉन्च की डिजिटल साक्षरता लाइब्रेरी

नई दिल्ली : Facbook ने 3 लाख भारतीयों को डिजिटल सेफ्टी के बारे में बताने के लिए डिजिटल लिटरेसी लाइब्रेरी लॉन्च करने का एलान किया. फिलहाल इसमें छह भारतीय भाषाओं- हिंदी, बंगाली, तमिल, तेलुगु, कन्नड़ और मलयालम को शामिल किया गया है. डिजिटल लिटरेसी लाइब्रेरी का मकसद छह भारतीय भाषाओं के जरिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को डिजिटल सेफ्टी और टेक्नोलॉजी की समझ विकसित करना है. इसमें खास जोर बच्चों पर होगा.इंटरनेट से अब सिर्फ बड़े ही नहीं बल्कि बच्चे भी जुड़ चुके हैं. कुछ बच्चों को छोड़ दें तो बड़ी संख्या में ऐसे बच्चे हैं, जो इंटरनेट को इस्तेमाल करने की जिम्मेदारियों से पूरी तरह वाकिफ नहीं हैं.

इन्हीं सब बातों को समझाने के लिए 29 अक्टूबर को फेसबुक के South Asia Safety Summit में Digital Literacy Library के लॉन्च का ऐलान किया गया. कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी भी मौजूद थीं.इस समिट में 5 देशों (भारत, श्रीलंका, नेपाल, बांग्लादेश और अफगानिस्तान) से करीब 70 संस्थानों ने भाग लिया और कई मुद्दों पर चर्चा की. फेसबुक ने आईआईटी-दिल्ली में एक चाइल्ड सेफ्टी हैकाथॉन भी कराई. इसमें बाल यौन शोषण के खिलाफ लड़ने के समाधानों पर चर्चा हुई. जितने भी समाधान इस दौरान बनाए गए, उन सभी को NGO पार्टनर को दे दिया गया, जिससे वे उसकी मदद से बच्चों को बचा सकें.

फेसबुक के ग्लोबल हेड ऑफ सेफ्टी एंटीगोन डेविस ने कहा, 'Digital Literacy Library, चाइल्ड सेफ्टी हैकाथॉन और ऐसे कुछ और योजनाएं हम स्थानीय विशेषज्ञों के साथ मिलकर चला रहे हैं, जिससे हम ऑनलाइन शोषण से लड़ सकें. हमें उम्मीद है कि 2018 खत्म होने तक हम 3 लाख लोगों को इस बारे में जागरूक कर चुके होंगे और लगातार प्रयत्न करेंगे कि यह संख्या बढ़ती रहे .


Share it
Top