जिला अम्बाला में चारों विधानसभा क्षेत्र के तहत 18 वर्ष से 19 वर्ष के लगभग 4123 नये वोट बनाने का काम हुआ पूरा

जिला अम्बाला में चारों विधानसभा क्षेत्र के तहत 18 वर्ष से 19 वर्ष के लगभग 4123 नये वोट बनाने का काम हुआ पूरा

एस पी भाटिया/विशेष संवाददाता,

अम्बाला : जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त शरणदीप कौर बराड़ ने बताया कि 1 जनवरी 2019 को पात्रता तिथि मानते हुए जिला अम्बाला में चारों विधानसभा क्षेत्र के तहत 18 वर्ष से 19 वर्ष के लगभग 4123 नये वोट बनाने का काम किया गया है। उन्होंने बताया कि 31 जनवरी 2019 तक चुनाव कार्यालय में 14154 फार्म नये मत बनाने के लिए प्राप्त हुए है जिनमें से 4123 मत बनाये जा चुके हैं। नये मत बनाने का कार्य विभाग द्वारा जारी है।

उपायुक्त ने बताया कि आगामी लोकसभा चुनाव के तहत जिले कुल 908 पॉलिंग स्टेशन है जिसमें 03-नारायणगढ़ में 211, 04-अम्बाला कैन्ट में 188, 05-अम्बाला शहर में 248, 06-मुलाना में आरक्षित विधानसभा क्षेत्र में 261 पोलिंग स्टेशन है। सभी पोलिंग बूथ स्टेशनों पर बुनियादी सुविधाएं जैसे बिजली, पानी, रैम्प की व्यवस्था के लिए पहले ही सम्बधित अधिकारियों को निर्देश दिए जा चुके है। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि टोटल पोंलिग स्टेशनेां की लोकेशन 511 है, जिनमें से 366 लोकेशन ग्रामीण क्षेत्रों में जबकि 145 शहरी क्षेत्रों में है। जिला निर्वाचन अधिकारी के अनुसार जिला में मतदाताओं की कुल संख्या 804317 हैं, जिनमें से 428293 पुरूष और 376024 महिला मतदाता है। सर्विस वोटरों की संख्या 3611 है, जिनमें से 3480 पुरूष और 131 महिला मतदाता हैं।

उन्होंने बताया कि नारायणगढ़ विधानसभा क्षेत्र में कुल 176868 मतदाता है, जिनमें से 94506 मेल और 82362 फिमेल है। इसी प्रकार अम्बाला कैन्ट विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या 183045 है, जिनमें से पुरूष मतदाता संख्या 97545 और महिला मतदाताओं की संख्या 85500 है। इसी प्रकार से अम्बाला शहर विधानसभा क्षेत्र में कुल 239723 मतदाता है, जिनमें से पुरूष मतदातों की संख्या 126210 और महिला मतदाताओं की संख्या 113513 है। इसी प्रकार से मुलाना विधानसभा क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या 2044681 है, जिनमें पुरूष मतदाताओं की संख्या 110032 और महिला मतदाताओं की संख्या 94649 है।

उपायुक्त ने बताया कि चुनाव प्रक्रिया के तहत अम्बाला जिला में प्रत्याशी के लिए अधिसूचना की तिथि 16 अप्रैल 2019 निर्धारित की गई है तथा नामांकन भरने की अंतिम तिथि 23 अप्रैल है। प्रत्याशियों के नामांकन की जांच 24 अप्रैल को होगी वहीं नामांकन वापिस लेने की तिथि 26 अप्रैल है। मतदान 12 मई 2019 को होगा और 23 मई को मतों की गणना होगी।

उपायुक्त शरणदीप कौर बराड़ ने इस मौके पर यह भी बताया कि अब की बार चुनाव प्रक्रिया में वीवी पैट मशीन का प्रयोग किया जायेगा। उन्होंने कहा कि वीवी पैट मशीन की प्रक्रिया के बारे अभियान चलाकर लोगों को इसकी जानकारी दी गई है वहीं अधिकारियों को भी वीवी पैट मशीन का प्रशिक्षण दिया गया है ताकि मतदान के समय उन्हें किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि इस वीवीपैट के माध्यम से सम्बन्धित मतदाता 7 सैकेंड तक उस प्रक्रिया को देख सकता है, जिसे उसने मत दिया है।

उन्होंने कहा कि मतदाताओं को लुभाने के लिए नगदी, शराब या अन्य पारितोषिक वस्तुओं का वितरण रिश्वत की श्रेणी में आता है जोकि एक दंडनीय अपराध है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव को लेकर 10 मार्च को आचार संहिता लागू कर दी गई है। उन्होंने कहा कि अब नेता ही नहीं बल्कि आम आदमी पर भी कईं तरह की शक्तियां लागू हो गई हैं। इसके तहत 50 हजार रूपये से ज्यादा कैश ले जाने पर इसका हिसाब देना होगा नहीं दिया तो पैसा जब्त हो सकता है। पैसे का चुनाव में दुरूपयोग न हो इसके लिए चुनाव आयोग की तरफ से कई प्रोविजन किये गये हैं। इसके साथ-साथ अगर किसी के बैंक अकाउंट में पिछले दो-तीन महीने में एक लाख से ज्यादा की ट्रांजैक्शन नहीं हुए और चुनाव के दौरान ऐसीट्रांजैक्शन मिलती है तो इस तरह की एक्टीविटी की रिपोर्ट ली जायेगी। बैंक अकाउंट में आरटीजीसी से आगे कई अकाउंट में ट्रांजैक्शन की जाती है तो भी बैंको की रिपोर्ट सबमिट करनी होगी। अगर 10 लाख से ज्यादा की ट्रांजैक्शन किसी अकाउंट से होती है तो इनकमटैक्स डिर्पाटमैंट के नोडल अधिकारी को जानकारी इलैक्शन डिपार्टमैंट की तरफ से भेजी जायेगी। उन्होंने कहा कि निष्पक्ष, स्वच्छ व शांतिपूर्ण चुनाव सम्पन्न करवाने में जिला प्रशासन का पूर्ण सहयोग करें।

Share it
Top