सर्वे: बिहार में नीतीश कुमार से एनडीए को होगा फायदा, यूपीए के खाते में सिर्फ 4 सीटें

सर्वे: बिहार में नीतीश कुमार से एनडीए को होगा फायदा, यूपीए के खाते में सिर्फ 4 सीटें

पटना: चुनाव आयोग ने आखिरकार 2019 के लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया. 17वीं लोकसभा का चुनाव सात चरणों में होगा. 11 अप्रैल से शुरु होने वाली वोटिंग 19 मई को खत्म होगी और 23 मई को देश को पता चलेगा कि कौन बनेगा प्रधानमंत्री? इस बीच देश के अलग-अलग राज्यों को लेकर ओपिनियन पोल सामने आ रहे हैं.

चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के बाद भाजपा और कांग्रेस समेत सभी दलों के नेताओं ने अपनी-अपनी जीत के दावे किए हैं, लेकिन सी-वोटर सर्वे के मुताबिक, बिहार में देखें तो एनडीए को भारी फायदा होता हुआ दिख रहा है. एनडीए के खाते में 36 सीटें जाती दिख रही हैं. तो वहीं, यूपीए को सिर्फ 4 सीटें मिलने का अनुमान है.

बिहार में एनडीए का क्या होगा?

बिहार भी राजनीतिक दलों के लिए काफी अहम है. सर्वे के मुताबिक अगर बिहार की 40 सीटों पर अभी चुनाव होते हैं तो एनडीए को 36 और आरजेडी को महज 4 सीटें मिलने का अनुमान है. वहीं अन्य अपना खाता भी नहीं खोलते दिख रहे हैं. यानी सर्वे में जो आंकड़े सामने आ रहे हैं वो ये साफ बता रहे हैं कि नीतीश कुमार के वापस आने से एनडीए को फायदा हो रहा है.

किसको कितना वोट शेयर?

वहीं, ओपिनियन पोल के नतीजों के मुताबिक, बिहार में एनडीए को करीब 49 फीसदी वोट मिल सकता है, जबकि यूपीए को केवल 37 फीसदी वोट. वहीं सिर्फ 14 फीसदी वोट अन्य के खाते में जाता हुआ नजर आ रहा है.

Share it
Top