तेजस्वी ने कहा -15 फीसदी वाले को 10% तो 85 वाले को दीजिए 90 फीसदी

तेजस्वी ने कहा -15 फीसदी वाले को 10% तो 85 वाले को दीजिए 90 फीसदी

पटना: सवर्ण आरक्षण को लेकर देश की राजनीति फिर से गरमा गई है. मोदी सरकार ने लोकसभा चुनाव से ठीक पहले गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण देने के लिए कानून बनाने की तैयारी कर रही है. सोमवार को हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में इसका फैसला लिया गया. इसपर राजद नेता तेजस्वी यादव ने अपनी प्रतिक्रिया दी है.

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट करके कहा कि अगर 15 फीसदी आबादी को 10% आरक्षण तो फिर 85 फीसदी आबादी को 90% आरक्षण हर हाल में मिलना चाहिए. 10% आरक्षण किस आयोग और सर्वेक्षण की रिपोर्ट के आधार पर दिया जा रहा है? सरकार विस्तार से बताये.


अगर 15 फ़ीसदी आबादी को 10% आरक्षण तो फिर 85 फ़ीसदी आबादी को 90% आरक्षण हर हाल में मिलना चाहिए।


10% आरक्षण किस आयोग और सर्वेक्षण की रिपोर्ट के आधार पर दिया जा रहा है? सरकार विस्तार से बतायें।

गौरतलब है कि देश में सवर्णों को आरक्षण देने की मांग लंबे समय से चली आ रही है. नरसिंह राव की सरकार ने भी सवर्णों को आर्थिक आधार पर 10 फीसदी आरक्षण देने की बात कही थीं. हालांकि, तब सुप्रीम कोर्ट ने इसे खारिज कर दिया था. लेकिन, तब से अब तक हालात बहुत बदले हैं.

बरहाल, लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मोदी सरकार ने सर्वण आरक्षण का ऐलान कर बड़ा दाव खेला है. केंद्रीय मंत्रीमंडल ने सामान्य श्रेणी में आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में 10 फीसदी आरक्षण की मंजूरी दे दी है. सूत्रों के अनुसार, सरकार इसपर कानून बनाने के लिए मंगलवार को संसद में संविधान संशोधन विधेयक ला सकती है.

Share it
Top