सवर्ण आरक्षण के विरोध में SC/ST-OBC ने खोला मोर्चा, आन्दोलन की चेतावनी

सवर्ण आरक्षण के विरोध में SC/ST-OBC ने खोला मोर्चा, आन्दोलन की चेतावनी

मध्यप्रदेश : सवर्ण आरक्षण के खिलाफ अनुसूचित जाति, जनजाति एवं पिछड़ी जातियां गोलबंद होने लगी है। इन जातियों के एक संगठन ने घोषण की है कि वे सवर्ण आरक्षण का विरोध करेंगे और इसके लिए सड़क पर भी उतरेंगे। मोदी सरकार द्वारा सामान्य वर्ग के लोगों के लिए दिए गए आरक्षण को लेकर लेकर दलित और ओबीसी समुदाय के लोग सड़क पर उतरने का मन बना रहे हैं। इसकी शुरूआत से हो गयी है। बीते दिन बुधवार को तीनों समुदाय के लोगों विरोध प्रदर्शन किया।

सवर्ण समुदाय को साधने के लिए मोदी सरकार ने संविधान में संशोधन कर 10 फीसदी गरीब सवर्णों को आरक्षण देने का कदम उठाया है। संसद के दोनों सदन में संविधान संशोधन सामान्य वर्ग आरक्षण विधेयक पास हो गया है। सरकार के इस कदम को लेकर दलित और ओबीसी समुदाय के लोग सड़क पर उतरने का मन बना रहे हैं। इसे लेकर बुधवार को दिल्ली में दलित और ओबीसी संगठनों से जुड़े हुए लोगों ने बैठक कर रणनीति बनाई है।

प्रदर्शनकारियों ने एक स्वर में कहा कि सवर्णों को आरक्षण दिए जाने का फैसला जुमला नहीं, संविधान, सामाजिक न्याय पर बड़ा हमला है। यह आरक्षण के खात्मे की मनुवादी साजिश है, इसे बर्दाशत नहीं किया जाएगा।

यादव सेना अध्यक्ष शिवकुमार यादव ने कहा कि बीजेपी सत्ता में आने के बाद बाबा साहेब भीमराम अंबेडकर के सपनों के भारत के संविधान को बदलने की हर संभव कोशिश कर रही है। आरक्षण का यह बदलाव उसके खात्मे की तैयारी है। सत्ता व शासन की संस्थाओं में पहले से ही सवर्णों की भागीदारी आबादी के अनुपात से कई गुणा ज्यादा है। सरकार 2 अप्रैल के भारत बंद को भूले नहीं अगर सरकार इस फैसला वापस नहीं लेती तो अवाम सड़कों पर उतरेगी।


Share it
Top