मायावती ने सवर्ण आरक्षण को बताया चुनावी छलावा, बीजेपी पर लगाया ये बड़ा आरोप

मायावती ने सवर्ण आरक्षण को बताया चुनावी छलावा, बीजेपी पर लगाया ये बड़ा आरोप

लखनऊ: बसपा प्रमुख मायावती ने केंद्र सरकार के सवर्णों को आर्थिक आधार पर 10 फीसद आरक्षण के फैसले का स्वागत किया है. साथ ही उन्होंने इस फैसले को चुनावी छलावा भी बताया. मायावती ने कहा कि सरकार ने ये फैसला पहले क्यों नहीं लिया.

मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, हम सरकार के आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के आरक्षण देने के कदम का स्वागत करते हैं. हम संसद में समर्थन करेंगे, लेकिन मोदी सरकार ने पहले ऐसा क्यों नहीं किया. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले लिया गया ये फैसला हमें सही नीयत से लिया गया फैसला नहीं लगता है. ये मोदी सरकार का 'चुनावी स्टंट' लगता है. गरीब सवर्णों को आरक्षण रानीतिक छलावा लगता है. अच्छा होता अगर भारतीय जनता पार्टी ये फैसला अपना कार्यकाल खत्म होने से ठीक पहले नहीं, बल्कि कार्यकल के शुरू होते ही ले लेती.

बता दें, एससीएसटी एक्ट के बात सवर्ण जातियों में नाराजगी को देखते हुए सरकार को ये फैसला राजनीतिक तौर पर देखा जा रहा है, तो वहीं सरकार के इस फैसले का अभी तक किसी पार्टी ने विरोध नहीं किया है.

Share it
Top