ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले 3200 वाहन चालकों का होगा लाईसेंस निरस्त, RTO ऑफिस को सौंपे पत्र

ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले 3200 वाहन चालकों का होगा लाईसेंस निरस्त, RTO ऑफिस को सौंपे पत्र

छत्तीसगढ़ : नियम तोडऩे वाले वाहन चालकों पर यातायात विभाग रायपुर ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। जिसके चलते ट्रैफिक पुलिस ने करीब 3200 वाहन चालकों के लाईसेंस को निरस्त करने आरटीओ कार्यालय को पत्र भेज दिया गया है। यातायात विभाग के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा ने बताया कि राजधानी के सड़कों पर तेज रफ़्तार से गाडिय़ा दौड़ा रहे वाहन चालकों का लाईसेंस निरस्त करने के लिए आरटीओ विभाग को पत्र लिखा गया है। जिससे ड्राईविंग लाईसेंस 2 से 3 माह तक सस्पेंड रहेंगे। इस अवधि में वाहन चालक वाहन चलाते हुए पकड़े गए तो उसके खिलाफ अपराध दर्ज कर कार्रवाई किया जाएगा। अगर वाहन चालक के लापरवाही से हादसा होता है और उसमें दूसरे चालक या राहगीर की मौत होती है तो ड्राईविंग लाईसेंस कैंसिल किया जाता है। ऐसे करीब 90 ड्राईवरों का पुलिस ने लाईसेंस कैंसल करने आरटीओ को पत्र भेजा गया है। वहीं अन्य नियमों पर उल्लंघन करने वाले 3200 चालकों के लाईसेंस को संस्पेड किया जाएगा।

कैमरों में देखकर कर रहे है चालानी कार्रवाई

ट्रैफिक पुलिस की ओर से अभियान चलाकर रॉग साइड, ओवरस्पीड, रफ ड्राईविंग और तीन सवारी वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। वहीं शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से गाडिय़ों की स्पीड का पता भी किया जा रहा है। इसके बाद कंट्रोल रूम से डिटेल निकालकर चालानी कार्रवाई कर वाहन चालकों के पते पर भेजा जा रहा है।

लाईसेंस निलंबित करने का नियम

अधिकारियों के मुताबिक सड़क पर यदि ऐसी ड्राईविंग की जाए जिससे खुद और दूसरे की जीवन में संकट उत्पन्न करते हो तो ऐसे ड्राईवरों का लाईसेंस निलंबित करने का प्रावधान है। केंद्रीय मोटरयान अधिनियम 1988 की धारा 19 और 20 में ड्राईविंग लाईसेंस निलंबित करने का प्रावधान है। ट्रैफिक पुलिस लाईसेंस निलंबित करने के लिए आरटीओ दफ्तर को भेजती है। जहां सुनवाई के बाद लाईसेंस निलंबित करने के लिए आरटीओ द्वारा आदेश जारी किया जाता है। इसकी अवधी अधिकतम 3 महीने तक की होती है।


Share it
Top