कालागढ में छाया घना कोहरा, ठंड ने बाँधी कपकपी

कालागढ में छाया घना कोहरा, ठंड ने बाँधी कपकपी

कालागढ : दिसंबर के आखिरी सप्ताह शुरू होते सी सर्दी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया। बुद्धवार को कोहरा इतना घना था कि इसान से लेकर जानवर तक ठंड से कापते दिखे। स्कूल खुले होने के कारण बच्चों को हाड कपाने वाली सर्दी के बीच स्कूल जाने पर मजबूर होना पड़ा। कोहरा इतना घना था कि वाहन चालकों को विजबीलिटी कम होने के कारण दोपहर तक हैड लाइटो को जलाना पड़ा।


सर्दी से बचने के लिए लोगों ने अलाव का सहारा लिया। लोगों का कहना कि अभी तो दिसंबर ही है और सर्दी का यह आलम है। अगर यही हाल रहा तो जनवरी में क्या होगा यही सोच कर डर लगता है।
डाक्टर देविन्दर ने बताया कि जब पारा इतने नीचे जाता है तब सभी के लिए परेशानी बड़ जाती है। सर्द मौसम छोटे बच्चों और बुजुर्गों के लिए ज्यादा परेशानी का सबब बन जाता हैं। ऐसे में दोनों को ज्यादा केयर की जरूरत होती है। डाक्टर ने कहा कि गर्म कपड़ों का इस्तेमाल करे और अनावश्यक न भीगे। शीतल पदार्थों के बदले गर्म पदार्थों का उपयोग करे।
वहीं आई स्पेशलिस्ट डाक्टर इरशाद कहना कि सर्दी अपने साथ कई तरह की परेशानी भी साथ लाती है। कोहरा में सबसे ज्यादा परेशानी आखो को होती है। ख्याल न रखने पर जलन महसूस होने लगती है।
कालागढ थाना अध्यक्ष रियाज अहमद का कहना है कि कोहरे के समय बहुत सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है। अनावश्यक यात्राओ से बचना चाहिए। जो वाहन इस्तेमाल कर रहे हैं। यात्रा करने से पहले उसके टायर और हैडलाइट जरूर चैक कर लेना चाहिए।

Share it
Top