परिजनों ने साध्वी के शव का अंतिम संस्कार करने से किया इन्कार, एसडीएम व सीओ समझाने में जुटे

परिजनों ने साध्वी के शव का अंतिम संस्कार करने से किया इन्कार, एसडीएम व सीओ समझाने में जुटे

शाहजहांपुर : जिले में साध्वी की मौत के मामले में परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया है. परिजनों की मांग है कि पहले आरोपियों की गिरफ्तारी हो उसके बाद ही वह साध्वी के शव का अंतिम संस्कार करेंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि विवादित जमीन को लेकर साध्वी की हत्या की गई है.

मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीएम तथा सीओ साध्वी के परिजनों को वार्ता कर समझाने में जुटे हैं.

23 नवंबर की रात साध्वी को जली हुई अवस्था में तिलहर के अस्पताल ले जाया गया, जहां 90 प्रतिशत से ज्यादा जले होने के कारण उसको बरेली के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी स्थिति दिन-प्रतिदिन खराब होती गई. इसी के चलते कल सुबह साध्वी ने अंतिम सांस ली. साध्वी ने बरेली में मजिस्ट्रेट के सामने बयान दिया, जिसमें उन्होंने 5 लोगों को उनके ऊपर तेल छिड़ककर आग लगाने और धमकी देने का मुकदमा दर्ज कराया है.

आज तिलहर बहादुरगंज में साध्वी के घर पर उनका शव लाया गया है और अब से कुछ देर बाद उनका अंतिम संस्कार होना है, लेकिन परिजन न्याय की मांग को लेकर अड़े हुए हैं. उनका कहना है कि जब तक पांचों अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं होती और जो जमीन को लेकर विवाद हुआ है उसका कब्जा हमें नहीं दिलवाया जाएगा तब तक साध्वी का अंतिम संस्कार नहीं होने देंगे. परिजनों ने कहा कि अगर उनको न्याय नहीं मिला तो वह पूरे परिवार के साथ सीएम आवास के सामने आत्मदाह कर लेंगे.


वहीं इस मामले में एसडीएम मोइनउल इस्लाम का कहना है कि जिस जमीन को लेकर साध्वी और अन्य लोगों में विवाद चल रहा है उसका मामला न्यायालय में है. इस मामले में कब्जा दिलवाने का तो कोई सवाल ही नहीं है. पुलिस अधिकारी परिजनों को समझा रहे है और जल्द ही साध्वी के शव का अंतिम संस्कार करवाया जाएगा.

Share it
Top