यूपी में अवैध खनन मामला: अखिलेश यादव से पूछताछ कर सकती है सीबीआई

यूपी में अवैध खनन मामला: अखिलेश यादव से पूछताछ कर सकती है सीबीआई

लखनऊ : खनन घोटाले की सीबीआई जांच की जद में पूर्व सीएम अखिलेश यादव सीधे आ सकते हैं. सीबीआई अखिलेश यादव से पूछताछ की तैयारी में जुट गई है. सीबीआई अखिलेश यादव से बतौर खनन मंत्री रहते दिए गए अवैध पट्टों पर पूछताछ की तैयारी में लगी है.

लखनऊ में शनिवार को आईएएस बी चंद्रकला के घर सीबीआई की छापेमारी की थी. इसमें मिले दस्तावेजों के बाद सीबीआई की जांच की दिशा खनन के पट्टे को गैरकानूनी तरीके से आवंटन करने की ओर केंद्रित हो गई है. सीबीआई जांच की इस दिशा में बढ़ने से सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर एजेंसी का शिकंजा कसना तय है.

अखिलेश सरकार में हमीरपुर जिले में आवंटित किए गए 22 पट्टों में 14 पट्टे बतौर खनन मंत्री अखिलेश यादव ने दिए थे. अखिलेश यादव के दिए इन 14 पदों में 13 पट्टे एक ही तारीख यानी 17 फरवरी 2013 को जारी किए गए थे. इसमें बी चंद्रकला के साथ सीबीआई की छापेमारी के बाद फंसे सपा एमएलसी रमेश मिश्रा और दिनेश मिश्रा को मिले सात खनन के पट्टे अखिलेश यादव ने ही दिए थे.

अखिलेश यादव के बाद खनन मंत्री बने गायत्री प्रजापति ने सात खनन के पट्टे जारी किए थे. ई टेंडरिंग के जरिए खनन के लिए दिए गए हाईकोर्ट के आदेश का भी अखिलेश यादव और गायत्री प्रजापति ने पट्टा जारी करने में खुला उल्लंघन किया. ई टेंडरिंग के बजाय खनन के पट्टे मनमाने ढंग से बांट दिए गए.

मनमाने ढंग से बिना ई टेंडरिंग के खनन के पट्टे दिए जाने के मामले में जाहिर है कि सीबीआई ने शुरुआत जिलाधिकारी रही बी चंद्रकला, माइनिंग ऑफिसर मोइनुद्दीन और राम आसरे प्रजापति से की है. अब बारी अखिलेश यादव और गायत्री प्रसाद प्रजापति से पूछताछ की मानी जा रही है.

सूत्रों की माने तो सीबीआई ने बतौर खनन मंत्री पट्टे दिए जाने पर अखिलेश यादव से पूछताछ की तैयारी शुरू कर दी है. बी चंद्रकला, खनन माफिया रमेश मिश्रा के घर से बरामद दस्तावेजों के बाद सीबीआई अब गायत्री और अखिलेश यादव से पूछताछ के लिए कानूनी प्रक्रिया और दस्तावेजी तैयारी पूरी करने में लगी है.

Share it
Top