प्रकृति की ओर सोसायटी का प्रदेशस्तरीय प्रदर्शनी आज से, दुलर्भ प्रजाति के फूल भी प्रदर्शनी में

प्रकृति की ओर सोसायटी का प्रदेशस्तरीय प्रदर्शनी आज से, दुलर्भ प्रजाति के फूल भी प्रदर्शनी में

रायपुर । प्रकृति की ओर सोसायटी का प्रदेशस्तरीय फल-फूल एवं सब्जी प्रदर्शनी आज से। छत्तीसगढ़ शासन के उद्यानिकी विभाग इंदिरा गांधी कृषि विवि, जिंदल पॉवर एण्ड स्टील लिमिटेड एवं नगर निगम के संयुक्त तत्वाधान में गांधी नेहरु उद्यान सिविल लाइंस रायपुर में आयोजित किया जा रहा है। जिसमें मुख्य अतिथि मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह, महापौर प्रमोद दुबे और विधायक कुलदीप जुनेजा उपस्थित होंगे। प्रदर्शनी पिछले 20 वर्षों से रायपुर के गांधी उद्यान में आयोजित कर रहे है। इसमें मुख्य सहयोगी छत्तीसगढ़ शासन के उद्यानिकी एवं प्रक्षेत्र वानिकी, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर, जिदंल स्टील एवं पॉवर लिमिटेड और नगर निगम रायपुर है।

वीडियो यहां देखे :


संस्था के अध्यक्ष डॉ. ए.आर. दल्ला, प्रदर्शनी संयोजक दलजीत बग्गा एवं सचिव मोहन वरलियानी ने जानकारी दी। तीन दिवसीय प्रदर्शनी में प्रकृति प्रेमियों के लिए गुलाब, गेन्दा, सेवन्ती, डेहलिया, जरवेरा, फ्लाक्स, बर्बीना, कैक्टस, बोनसाइ आदि सहित 30 हजार गमलों के माध्यम से फूलों की प्रदर्शनी में दुलर्भ प्रजाति के फूलों को भी शामिल किया गया है जो छत्तीसगढ़ की जलवायु में नहीं होती । प्रदर्शनी में 70 छोटे-बड़े मझोले टेरिस गार्डन लगाने वालों को भी आमंत्रित किया गया है जो गृह-सज्जा प्रतियोगिता में हिस्सेदारी करेंगे। समारोह में प्रमुख आकर्षण औषधीय पौधों का स्टाल है । जहां कृषि वैज्ञानिक एवं वैद्यराज चिकित्सक आने वालों को पौधों के महत्व की जानकारी दे रहे हैं ।



जिंदल स्टील प्लांट लिमिटेड के एग्रीकल्चर हेड प्रशांत कुमार साहू ने बताया कि वह वर्ष 2009 से लगातार फूलों की प्रदर्शनी लगाते आ रहे है। इस साल वह 70 हजार फूलो के गमले प्रदर्शनी में लगाएं है, जिसमें 35 फूलों के वेराइटिस हैं । उन्होंने बताया की इस प्रदर्शनी के माध्यम से लोगो को पर्यावरण के प्रति जागरूक करना , लोग ज्यादा से ज्यादा अपने पर्यावरण से जुड़े। उन्होंने बताया कि अगस्त माह से फूलों के बीज का रख-रखाव व देखभाल करते है जो जनवरी तक पूरा होता है। आज के प्रदर्शनी में अफ्रीकी मैरीगोल्ड, फिल्ड मैरीगोल्ड, डहलिया, गजनिया, फ्लॉक्स व अन्य कई प्रकार के फूल है। जिसमें सेवंती का फूल आकर्षण का केंद्र रहेगा।

वहीं कृषि विज्ञान केंद्र ग्राम पाहंदा दुर्ग से प्रदर्शिनी में आये महिलाओं का ग्रुप फूड स्टॉल लगाए है। जिसमें वर्मी खाद, जिसको अब महिलाएं भी जागरूक हो रही हैं। मशरूम से बने बिस्किट व सेव आकर्षक है। इनके ग्रुप में अभी 50 सदस्य है और 6 माह पहले ही रजिस्ट्रेशन हुआ है। वहीं बोरियाकला के शासकीय माध्यमिक शाला के टीचर व बच्चों द्वारा फूलों व सब्जियों का रंगोली तैयार किया गया है। जिसमें फूलों से बने रंगोली का थीम सर्वधर्म संभव का प्रतीक है वहीं सब्जी से बने रंगोली की थीम में दो गोपियां डांडिया खेलते हुए दिख रही है।

Share it
Top