बाहरी लोग आसानी से कर जाते हैं मुख्य बांध का दीदार

बाहरी लोग आसानी से कर जाते हैं मुख्य बांध का दीदार

शमशुद्दीन अंसारी

कालागढ़: कालागढ़ राम गंगा बांध पर एक निजी वाहन जाने का मामला प्रकाश मे आया है। बृहस्पतिवार शाम को रामगंगा बांध कालागढ़ में कुछ बाहरी लोग एक निजी वाहन से वाहन भ्रमण के लिए पहुंच गए। जिसकी खबर स्थानीय नागरिकों को लगते ही नागरिक चेक पोस्ट संख्या 4 पर पहुंचे और विरोध शुरू कर दिया। मामला बढ़ा तो कालागढ़ पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत किया व वाहन में मौजूद लोगों से पूछताछ की। बृहस्पतिवार को देर शाम को नागरिकों को सूचना मिली कि एक अज्ञात वाहन बांध परिसर में घुसा है सूचना मिलते ही क्षेत्रवासी चेक पोस्ट संख्या 4 पर जमा हो गये और सुरक्षाकर्मी से वाहनों के प्रवेश वाला रजिस्टर दिखाने के लिए बोला।

रजिस्टर में एक ब्रेजा कार का प्रवेश शाम 4 बजकर 40 मिनट व बाहर आने का समय 6:15 मिनट था जबकि नियमानुसार 5 बजे से पहले किसी भी व्यक्ति को बांध क्षेत्र से बाहर आ जाना चाहिये। रजिस्टर देखने व वाहन में मौजूद लोगो से पूछा तो पता चला उनके पास कोई भी लिखित अनुमति नही थी जिससे साफ जाहिर होता है की विभाग के ही किसी कर्मचारी या अधिकारी ने इन्हें अंदर जाने दिया। बांध भ्रमण मामले पर पूर्व में जब कभी भी अधिशासी अभियंता से बात की तो हमेशा ही उन्होंने यह कहकर क्षेत्रीय लोगो को मना किया कि सुरक्षा के मद्देनजर किसी भी बाहरी व स्थानीय नागरिक के लिए बांध पर जाना या भ्रमण करना पूर्णतः प्रतिबंधित है।

फिर ऐसे में कैसे एक अज्ञात वाहन कैसे बांध परिसर में प्रवेश कर गया। सिचाई विभाग के इस रैवेये से साफ प्रतीत हो रहा है की विभाग के अंदर ही कुछ गड़बड़ चल रही है जो शाम के अंधेरे में रसूखदार लोगो को बांध पर भ्रमण के लिये जाने दिया जा रहा है । गौरतलब है कि यह पहला मौका नही है जब इस तरह का मामला सामने आया है। इससे पहले भी अधिकारियों और कर्मचारियों की मिलीगभगत से लोगों को मुख्य बांध पर भेजे जाने के मामले प्रकाश मे आए हैं। इस पर स्थानीय नागरिक महबूब फय्याज, सलमान, सद्दाम, विनोद कुमार, लियाकत, रियासत, अमित, नौशाद, जफर, वहाजुद्दीन, जितेन्द्र, जय प्रकाश आदि ने विरोध जताते हुए कहा कि इस तरह बिना अनुमति के बांध में अज्ञात लोगों को भ्रमण करवाना बांध की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ है।

सिंचाई विभाग के अधिकारी अपने करीबी लोगों को तो बांध भ्रमण के लिए भेज देते है लेकिन जब एक क्षेत्रीय नागरिक बांध जाने की अनुमति लेता है तो उसे साफ मना कर दिया जाता है। अतः हम सिंचाई विभाग से मांग करते है कि स्थानीय नागरिकों को भी पूर्व की तरह बांध भ्रमण करने की अनुमति प्रदान की जाये । "बांध क्षेत्र में एक वाहन की सूचना मिली है वाहन विभागीय अनुमति थी या नही इसकी जांच हम व सिचाई विभाग दोनों कर रहे है" - "रियाज अहमद थानाध्यक्ष कालागढ़"

Share it
Top