कांग्रेस ने सीटों की सूचि ऐसी जारी किया की मुकाबला होगा रोचक, दिग्गजों के सामने दिग्गज

कांग्रेस ने सीटों की सूचि ऐसी जारी किया की मुकाबला होगा रोचक, दिग्गजों के सामने दिग्गज

मध्यप्रदेश : कांग्रेस ने 155 प्रत्याशियों की जो पहली सूची जारी की है। उसमें कुछ विधायकों के टिकट काटे गये हैं तो कुछ नये चेहरों को भी मौका मिला है। लेकिन, इस बार खास बात ये है कि पार्टी के दिग्गज नेता भी इस बार चुनावी मैदान में दिखेंगे। अजय सिंह चुरहट से चुनाव लड़ेंगे तो सुरेश पचौरी भोजपुर विधानसभा सीट से मैदान में होंगे। ऐसे में इन सीटों पर सियासी घमासान होने की पूरी उम्मीद है।

टिकट वितरण में कांग्रेस की यह रणनीति साफ दिखाई दी है कि इस बार बीजेपी के सभी दिग्गजों को घेरा जाये।यही वजह है कि कांग्रेस ने बीजेपी के दिग्गजों को घेरने के लिये अपने दिग्गजों को चुनावी मैदान में उतार दिया है। इसके अलावा पार्टी ने कई ऐसे चेहरों पर एक बार फिर दांव लगाया है जो चुनाव जीत सकते हैं।इसके साथ ही कांग्रेस ने बीजेपी से कांग्रेस में शामिल हुये कई नेताओं को भी तरहीज देते हुये उन्हें विधानसभा का टिकट दिया है।

भोजपुर से सुरेंद्र पटवा के खिलाफ सुरेश पचौरी

रायसेन जिले की भोजपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस ने दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी को मैदान में उतारा है। वहीं बीजेपी ने भी इस सीट पर सुरेंद्र पटवा को फिर मैदान में उतारा है। ऐसे में एक बार फिर इन दोनों दिग्गजों में चुनावी जंग होगी। हालांकि 2013 के विधानसभा चुनाव में पचौरी, पटवा से हार चुके हैं, लेकिन इस बार पटवा का भोजपुर में विरोध देखा गया है। ऐसे में मुकाबला दिलचस्प हो सकता है।

खुरई सीट पर फिर होगा घमासान

सागर जिले की खुरई विधानसभा सीटइस बार बुंदेलखंड अंचल की सबसे हाईप्रोफाइल सीटों में शामिल हो गई है क्योंकि इस सीट पर गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह के खिलाफ कमलनाथ के खासमखास पूर्व विधायक अरुणोदय चौबे एक बार फिर मैदान में होंगे। ये दोनों नेता पिछले दो चुनावों से एक-दूसरे के खिलाफ खड़े होते आ रहे हैं। जिसमें एक-एक बार दोनों को जीत मिल चुकी है। लेकिन, देखना दिलचस्प होगा कि इस बार जीत किसको मिलेगी।

पद्मा शुक्ला और संजय पाठक में होगा रोचक मुकाबला

बीजेपी से कांग्रेस में शामिल हुईं महाकौशल अंचल की दिग्गज नेता पद्मा शुक्ला को कांग्रेस ने विजय राघोगढ़ सीट से प्रत्याशी बनाया है। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए संजय पाठक की वजह से बीजेपी ने यहां से पद्मा शुक्ला का टिकट काटकर संजय पाठक को उम्मीदवार बनाया था। इस बार भी बीजेपी का टिकट संजय पाठक को मिलता देख पद्मा शुक्ला ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया, जिसके बाद उन्हें इसी सीट से कांग्रेस का टिकट मिल गया। वहीं संजय पाठक के कांग्रेस से आने की वजह से स्थानीय स्तर पर उनका भी विजय राघोगढ़ के बीजेपी कार्यकर्ताओं में खासा विरोध है. ऐसे में हो सकता है कि बीजेपी कार्यकर्ता पद्मा शुक्ला को समर्थन कर दें, हालांकि संजय पाठक को इस सीट पर मजबूत दावेदार माना जाता है, लेकिन दोनों दल बदलने वाले नेताओं के बीच यहां मुकाबला रोचक होने की उम्मीद है।


Share it
Top