गुस्साए जंगली हाथी ने बाइक सवार को गिराया

गुस्साए जंगली हाथी ने बाइक सवार को गिराया

कालागढ़: कोटद्धार कंडी मार्ग के करीब एक टस्कर हाथी ने ग्रामीण को घायल कर दिया। मामला कालागढ़ की सीमा से सटे हुए गांव कुआखेड़ा का है। जहां एक जंगली हाथी ने बाईक सवार युवक पर अचानक हमला बोल दिया। अचानक हुए इस हमले में युवक हड़बड़ा गया। किसी तरह वह बाईक छोड़ जान बचाकर मौके से भागा।
बुद्धवार सुबह सवेरे कुआखेड़ा निवासी कुंदन सिंह पुत्र संतोष सिंह गांव से कालागढ़ जा रहा रहा था। तभी अचानक पास की झाड़ियो से एक हाथी कुंदन की बाईक के सामने आ खड़ा हुआ। जिससे युवक हड़बड़ा गया और गिर गया। गिरते ही युवक ने शोर मचा दिया युवक के चिल्लाने की आवाज सुनकर पास ही खेतो पर कर रहे लोगों ने हाथी को देखकर शोर शराबा शुरू किया। जिससे हाथी थोड़ी देर के लिए सहम गया। इतने मौका देखकर युवक जान बचाकर वहा से भाग निकला। परन्तु हाथी ने अपना गुस्सा मोटरसाइकिल पर निकाला और उसको क्षतिग्रस्त कर दिया।
ग्रामीण साहब सिंह ने बताया कि यह हाथी बीती रात से हमारे खेत मे आ गया था और काफी उत्पात मचाया। जिसमे हमारी फसलों को बेहद नुकसान हुआ। हमने शोर शराबा करके व आग जलाकर बमुश्किल इस हाथी को खेत से खदेड़ा।
वही एक सप्ताह पूर्व इसी हाथी ने कुआखेड़ा गांव के समीप नेपाली बस्ती में एक घर पर हमला बोल दिया व घर की दीवार गिरा दी। जिसमें घर मे मौजूद परिवार का एक सदस्य दीवार के नीचे दब गया। दीवार के नीचे दबने उसे काफी चोटे आई।
हाथी के इस आतंक से परेशान होकर ग्रामीण अमरीक सिंह, कश्मीर सिंह, दलवीर सिंह, महेंद्र सिंह, जरनैल सिंह आदि ने इसका विरोध किया कि और कहा की हमारा क्षेत्र कालागढ़ टाईगर रिज़र्व से लगा हुआ है परंतु हमारे क्षेत्र में ना तो उत्तर प्रदेश वन विभाग व ना ही कालागढ़ वन विभाग गश्त करता है। नतीजतन यहाँ मानव वन्यजीव संघर्ष हो रहे है। हमारी फसलों को लगातार हाथी व अन्य जंगली जीव नुकसान पहुंचा रहे है। हम वन विभाग से फिर मांग करते है कि इस हिंसक हाथी को पकड़कर कही और छोड़ा जाए और हमारी बर्बाद हुई फसलों का हमे मुआवजा दिया जाये।

Share it
Top