धवन, रोहित की शानदार पारियों से भारत का विशाल स्कोर

धवन, रोहित की शानदार पारियों से भारत का विशाल स्कोर

एसपी भाटिया /विशेष संवाददाता

मोहाली। शिखर धवन ने अपने खराब दौर पर विराम लगाते हुए रविवार को यहां 115 गेंदों पर 143 रन की पारी खेली और रोहित शर्मा के साथ बड़ी साझेदारी निभायी जिससे भारत ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में नौ विकेट पर 358 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया।

भारतीय टीम आज पूरी तरह से भिन्न तरह की टीम दिखी। रोहित और धवन ने सपाट पिच पर पहले विकेट के लिये 193 रन जोड़े। धवन ने वनडे में अपना 16वां शतक लगाया जबकि उप कप्तान रोहित (92 गेंदों पर 95 रन) अपने 23वें शतक से चूक गये। इन दोनों ने आस्ट्रेलियाई आक्रमण की धज्जियां उड़ाने में कसर नहीं छोड़ी।

पैट कमिन्स (दस ओवर में 70 रन देकर पांच विकेट) और जॉय रिचर्डसन (नौ ओवर में 85 रन देकर तीन विकेट) ने बाद में टीम को सफलताएं दिलायी लेकिन तब तक भारतीय सलामी जोड़ी आस्ट्रेलिया को अच्छा खासा नुकसान पहुंचा चुकी थी।

धवन ने इससे पहले सितंबर 2018 में पाकिस्तान के खिलाफ एशिया कप में शतक जड़ा था। वह आज शुरू से लय में दिखे और उन्होंने 18 चौके और तीन छक्के लगाये। इससे रोहित पर से भी दबाव हटा जो शुरू में सतर्क होकर खेल रहे थे।

ओपनर के एक अन्य दावेदार केएल राहुल को टीम में जगह मिलने पर धवन अपने पसंदीदा मैदान पर असली रंग में दिखे। उन्होंने इसी मैदान पर आस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट की स्वप्निल शुरुआत की थी। इससे विश्व कप टीम तैयार करने में जुटे टीम प्रबंधन की चिंताएं भी कम हो गयी हैं।

धवन ने पहले छह ओवरों में कई शानदार चौके लगाये। उन्होंने शुरू से ही कवर ड्राइव का अच्छा नजारा पेश किया और इसके बाद उन्हें रोकना मुश्किल हो गया। इस विकेट पर गेंदबाजों को गेंद आगे पिच कराने की जरूरत थी लेकिन आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने शार्ट पिच गेंदबाजी की जिसका धवन को फायदा मिला।

मैक्सवेल और एडम जंपा के नहीं चलने पर आरोन फिंच ने खुद गेंद संभाली। जंपा पर छक्का जड़ने वाले रोहित ने आस्ट्रेलियाई कप्तान को भी सबक सिखाया। उन्होंने रिचर्डसन पर भी स्क्वायर और मिडविकेट क्षेत्र में दर्शनीय शॉट लगाये लेकिन छक्के से शतक पूरा करने के प्रयास में डीप मिडविकेट पर कैच दे बैठे।

धवन ने आक्रामक रवैया बनाये रखा और अपना पिछला सर्वोच्च स्कोर (137 रन बनाम दक्षिण अफ्रीका, मेलबर्न, 2015) पीछे छोड़ा। उन्होंने कमिन्स पर बड़ा शाट लगाने के प्रयास में अपना विकेट गंवाया।

इसके बाद राहुल (31 गेंदों पर 26), ऋषभ पंत (24 गेंदों पर 36) और विजय शंकर 14 गेंदों पर 26) के प्रयासों से भारत 350 रन के पार पहुंचने में सफल रहा।

Share it
Top