बेल्जियम के खिलाफ भारत की परीक्षा शुरू, कनाडा- द.अफ्रीका के सामने जीत की चुनौती

बेल्जियम के खिलाफ भारत की परीक्षा शुरू, कनाडा- द.अफ्रीका के सामने जीत की चुनौती

बेल्जियम । भारत ने हॉकी विश्व कप में यहां दक्षिण अफ्रीका पर दमदार जीत के साथ आगाज कर जरूरी लय पा ली है। बेल्जियम के खिलाफ जीतने के लिए भारत को आक्रामक हॉकी खेलनी होगी जो कि उसकी ताकत है और अपनी मध्यपंक्ति को कसना होगा। भारत के चीफ कोच हरेन्द्र सिंह ने बेल्जियम के खिलाफ मैच से पहले यह सही कहा है कि बेल्जियम के खिलाड़ी डी में खतरनाक हैं और टीम की कोशिश यही होगी कि गेंद को उनके कब्जे से दूर रखा जाए और इसी रणनीति से खेलेंगे।

लिंकमैन के नए रोल में आकाशदीप सिंह ने पहला इम्तिहान अव्वल नंबर से पास कर दर्शाया है कि वह यहां इस बार भारत के 'तुरुप के इक्के' रहने वाले हैं। उन पर खुद गोल करने के साथ भारत के लिए गोल के अभियान बनाने का भी दारोमदार रहेगा।

दुनिया की पांचवें नंबर की टीम भारत के सामने ओलंपिक रजत पदक विजेता बेल्जियम के रूप में रविवार को अब अपने पूल सी में ऐसी टीम होगी, जो बराबर उसका कड़ा इम्तिहान लेती रही है। 'रेड लायंस' के रूप में जानी जाने वाली दुनिया की तीसरे नंबर टीम बेल्जियम और भारत के बीच हाल ही के बेहद कड़े मुकाबले इस बात के गवाह हैं इनमें जीतती वही टीम है जो खास दिन बेहतर प्रदर्शन करती है।

भारत के चीफ कोच हरेन्द्र सिंह और शेन मैकलियॉड की बतौर हॉकी उस्ताद इस मैच के लिए बिछाई रणनीति की बिसात की परख होगी। फ्रांस में ये दोनों ही साथ-साथ क्लब हॉकी खेल चुके हैं। भारत को आखिरी क्षण तक चौकस रहना होगा खासतौर पर उसकी रक्षापंक्ति को। साथ ही अपनी डी में खासतौर पर आखिरी क्षणों में चूक कर गोल खाने की 'बीमारी' से बचना होगा। अनुभवी गोलरक्षक पीआर श्रीजेश, बीरेन्द्र लाकड़ा, कोथाजीत सिंह, वरुण, हरमनप्रीत और सुरेन्दर कुमार की रक्षापंक्ति कसौटी पर होगी।

बेल्जियम के टॉम बून, साइमन गुगनार्ड और ऑर्थर वॉन डोरेन जैसे ऑलराउंडरों से चौकस रहना होगा। ये सभी बेल्जियम टीम की ताकत हैं और अपने दम मैच जिताने का दम रखते हैं। भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जीत के साथ जो लय हासिल की है उसे जारी रखने में आकाशदीप सिंह के साथ स्ट्राइकर मनदीप सिंह, सिमरनजीत और दिलप्रीत की त्रिमूर्ति के साथ अनुभवी ललित उपाध्याय को उम्मीदों पर खरा उतरना होगा। दूसरे लिंकमैन के लिए हार्दिक सिंह और नीलकांत के रूप में पर्याप्त विकल्प हैं। ड्रैग फ्लिकर के रूप में हरमनप्रीत सिंह, वरुण कुमार, अमित रोहिदास की मजबूत त्रिमूर्ति है।

क्वार्टर फाइनल पर हैं दोनों टीमों की निगाह

दक्षिण अफ्रीका पर पहले मैच में बड़ी जीत के बाद भारत की कोशिश बेल्जियम पर भी जीत के साथ पूल में शीर्ष पर सीधे क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने की होगी। दोनों ही टीमें क्रॉसओवर से बचने की कोशिश में रविवार को जीत के लिए पूरी ताकत झोेंकेगी तो मुकाबला वाकई बहुत दिलचस्प रहने की आस लगाई जा रही है।

भारतीय कोच हरेन्द्र भी इस मैच को प्री क्वार्टर की तरह ले रहे हैं। घरेलू दर्शकोंका समर्थन भारतीय टीम को अपने सर्वश्रेष्ठ खेल के लिए प्रेरित करेगा। बेल्जियम ने भी कनाडा पर पसीना बहाने के बाद जीत के साथ आगाज किया था और भारत के खिलाफ वह भी कहीं कोई ढील नहीं छोड़ना चाहेगा।


Share it
Top