Ind vs Aus 1st Test : पुजारा ने शतक जड़कर बचाई भारत की लाज, ये रही इस पारी की सबसे खास बात

Ind vs Aus 1st Test : पुजारा ने शतक जड़कर बचाई भारत की लाज, ये रही इस पारी की सबसे खास बात

नई दिल्ली : राहुल द्रविड़ के के संन्यास लेने के बाद जिस खिलाड़ी को टीम इंडिया की 'दीवार' कहा जाता है वो हैं चेतेश्वर पुजारा। पुजारा को इस नाम से क्यों पुकारा जाता है उन्होंने अपने खेल से ये दिखाया एडिलेड टेस्ट के पहले दिन। ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज़ का पहला दिन और पहले ही सेशन में 19 रन पर भारत के तीन विकेट गिर चुके थे। शुरुआत खराब हुई लोकेश राहुल, मुरली विजय और विराट कोहली जैसे खिलाड़ी कुल 19 रन के स्कोर पर ड्रेसिंग रुम की शोभा बढ़ा रहे थे। पुजारा तो कुछ और ही सोच कर मैदान पर उतरे थे। पुजारा ये ठान कर आए थे कि वो कंगारुओं के पसीने छुड़ा देंगे और उन्होंने किया भी कुछ ऐसा ही।

पुजारा ने ऑस्ट्रेलिया में 231 गेंदों का सामना करते हुए अपने टेस्ट करियर का 16वां शतक ठोक दिया। ऑस्ट्रेलिया में ये पुजारा का पहला शतक है। इससे पहले वो कभी भी ऑस्ट्रेलिया में शतक नहीं जड़ सके थे। इसी पारी के दौरान उन्होंने अपने टेस्ट क्रिकेट में पांच हज़ार रन भी पूरे कर लिए। शतक जड़ने के लिए पुजारा ने 6 चौकों के साथ-साथ एक छक्का भी जड़ा। शतक के बाद पुजारा ने तेज़ी से रन बनाए और 246 गेंदों में 123 रन बनाकर वो रन आउट हो गए। इसी के साथ पहले दिन का खेल खत्म हो गया और भारत ने 9 विकेट खोकर 250 रन बनाए।

इस पारी के दौरान पुजारा ने दिखाया कि आखिर क्यों टेस्ट क्रिकेट को असली क्रिकेट कहा जाता है। कंगारु गेंदबाज़ उन पर हावी होने की कोशिश करते रहे, लेकिन पुजारा ने अपने धैर्य और संयम का परिचय देते रहे। उन्होंने अपनी धीमी पारी से कंगारुओं को परेशान कर दिया। पुजारा की पारी आगे बढ़ती रही और कंगारुओं का धैर्य जवाब देता रहा। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया में पुजारा का सर्वाधिक स्कोर 73 रन था। ये पारी उन्होंने 2014 में एडिलेड के मैदान पर ही खेली थी।

चेतेश्वर पुजारा ने 19 रन पर तीन विकेट गिरने के बाद भारतीय पारी को आगे बढ़ाने का काम शुरू किया। उन्हें दूसरे छोर पर रोहित शर्मा का साथ मिला। रोहित मौके मिलने पर हवाई शॉट लगा रहे थे तो दूसरे छोर पर पुजारा अपने संयम और क्लास का नज़ारा पेश कर रहे थे। पुजारा भले ही रोहित की तरह बड़े शॉट न लगा रहे हो, लेकिन उन्होंने एक छोर पर विकेट बचाए रखा। फिर रोहित शर्मा (37) पुजारा का साथ छोड़ गए। रिषभ पंत (25) ने भी बड़े शॉट्स पर ही फोकस किया और लियोन ने रोहित की तरह उनका भी काम तमाम कर दिया। पुजारा अंगद की तरह पैर जमाकर खड़े रहे। पुजारा ने 153 गेंदों का सामना करते हुए टेस्ट क्रिकेट का अपना 20वां अर्धशतक जड़ा। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ये उनका सातवां अर्धशतक रहा। इस फिफ्टी को बनाने के लिए पुजारा के बल्ले से चार चौके निकलें। इस तरह पुजारा की धीमी पारी रोहित की पारी पर भारी पड़ी।


Share it
Top