PM मोदी का नवरात्री उपवास शुरू,पूर्व राष्टपति बराक ओबामा भी रह गए थे दंग

PM मोदी का नवरात्री उपवास शुरू,पूर्व राष्टपति  बराक ओबामा भी रह गए थे दंग

नई दिल्ली। पूरे देश में आज (बुधवार) से शारदीय नवरात्र की शुरुआत हो चुकी है। इसी के साथ देश में त्योहारी सीजन भी शुरू हो गया है। नवरात्र के पहले दिन भक्तिमय माहौल के साथ देशभर में माता के जयकारे गूंज रहे हैं।नरेंद्र मोदी अपनी फिटनेस और दैनिक दिनचर्या को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं। वह नियमित टहलते हैं और योगासन करते हैं। इसके अलावा उनकी डाइट बहुत सीमित और पौष्टिक होती है। काम को तवज्जो देने की वजह से उन्हें आराम का पर्याप्त समय नहीं मिल पाता है। इसकी कमी वह योगा के जरिए ही पूरी करते हैं। मालूम हो की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही भारत से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुरूआत की थी, जो अब दुनिया के कई देशों में मनाया जाता है। पिछले दिनों उनकी योगा करती हुई फोटो और वीडियो भी काफी वायरल हुई थीं, जिसे लोगों ने काफी पसंद किया था।

जगह-जगह मंदिरों में भारी भीड़ है। करोड़ों की संख्या में हिंदू इस खास दिन पर उपवास रखते हैं। हालांकि, लोगों में हमेशा ये जानने की उत्सुकता रहती है कि इन दिनों खास लोग किस तरह से उपवास रखते हैं या पूजा पाठ करते हैं। लोगों में सबसे ज्यादा उत्सुकता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उपवास को लेकर रहती है, जिससे अमेरिका भी हैरान हो गया था।

नवरात्र में ज्यादातर श्रद्धालु पहले दिन (प्रतिपदा) और अंतिम दिन (नवमी) ही उपवास रखते हैं। वहीं पीएम मोदी पूरे नवरात्र व्रत रखते हैं। इस दौरान वह अपने बेहद व्यस्त कार्यक्रम में भी सख्ती से उपवास के नियमों का पालन करते हैं। बताया जाता है कि प्रधानमंत्री नवरात्रि उपवास के दौरान दिन भर केवल सादा पानी या नींबू पानी ही पीते हैं। केवल शाम के वक्त वह नींबू पानी के साथ थोड़े से चुनिंदा फल ही खाते हैं। इस दौरान वह न तो कोई बावजूद इन दिनों वह पूरी ऊर्जा से अपने दैनिक काम-काज और व्यस्त कार्यक्रमों में शिरकत करते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने कठोर उपवास के बावजूद नवरात्र में ज्यादा काम करते हैं। आम दिनों में वह सुबह पांच बजे जागते हैं। नवरात्र में वह सुबह चार बजे ही जग जाते हैं। सुबह की शुरूआत वह मां दुर्गा की पूजा के साथ करते हैं। उपवास के दौरान भी वह नियमित योगा आदि करते रहते हैं। बताया जाता है कि पीएम मोदी नवरात्र में किसी नए कार्य की भी शुरूआत करते हैं। इसके लिए उन्हें आम दिनों की अपेक्षा ज्यादा काम करना पड़ता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने नवरात्र व्रत को लेकर काफी समय पहले (गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए) अपने ब्लॉग पर लिखा था। इसमें उन्होंने बताया था कि एक बार शिक्षक दिवस के मौके पर वह एक स्कूल के कार्यक्रम में शामिल होने गए थे। वहां मौजूद एक बच्ची (स्कूली छात्रा) ने उनसे पूछा था कि वह नवरात्रि में कैसे इतना कठोर उपवास रखते हैं और इस दौरान उन्हें इतना काम-काज करने की ताकत कैसे मिलती है। इस पर नरेंद्र मोदी ने उसे जवाब दिया था कि ये उपवास उन्हें कई वर्षों से ताकत और शक्ति प्रदान कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तकरीब 40 वर्षों से ज्यादा समय से नवरात्रि पर नौ दिन का उपवास रख रहे हैं। वहा वर्ष की दोनों नवरात्रि (चैत्र व शारदीय) पर इसी तरह से उपवास रखते हैं। इस दौरान वह थोड़ा सा समय निकालकर पूजा-पाठ भी करते हैं। शारदीय नवरात्र में नवमी के दिन व्रत खत्म होने के बाद अगले दिन विजयदशमी के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हिंदू मान्यताओं के अनुरूप शस्त्र पूजन भी करते हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए नरेंद्र मोदी वर्ष 2001 से 2014 तक हर विजयदशमी पर अपने सुरक्षाकर्मियों संग बैठकर शस्त्र पूजा किया करते थे। इसके सार्वजनिक प्रदर्शन में भी उन्होंने कभी संकोच नहीं किया। शस्त्र पूजा का ये सिलसिला अब भी प्रत्येक विजय दशमी पर जारी है।

वर्ष 2014 के सितंबर माह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका दौरे पर गए हुए थे। उन दिनों नवरात्र चल रहे थे और वह उपवास पर थे। अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा ने व्हाइट हाउस में नरेंद्र मोदी के सम्मान में शानदार दावत रखी थी। उस वक्त भी प्रधानमंत्री ने केवल नींबू पानी पीते हुए अपने उपवास के नियमों का पालन किया था। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को जब उनके इस कठोर उपवास का पता चला तो वह दंग रह गए थे। ये घटना उस वक्त राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मीडिया की सुर्खियां बना था।


Share it
Top