PM मोदी आज स्वच्छ शक्ति कार्यक्रम में नारी शक्ति को स्वच्छता का संदेश देने के करेंगे आह्वान

PM मोदी आज स्वच्छ शक्ति कार्यक्रम में नारी शक्ति को स्वच्छता का संदेश देने के करेंगे आह्वान

एस पी भाटिया/विशेष संवाददाता

कुरूक्षेत्र। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी व दमन-दीव तथा दादर एवं नगर हवेली की संस्कृति की झलक धर्मनगरी में दिखाई देगी। यहीं से नारी शक्ति पूरे देश में स्वच्छता का संदेश पहुंचाने का संकल्प लेगी। जी हां, 12 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छ शक्ति कार्यक्रम में नारी शक्ति को स्वच्छता स्वच्छता का संदेश देने के साथ देश की उन्नति में योगदान देने का आह्वान करेंगे।

ब्रह्मसरोवर के तट पर आयोजित होने वाले स्वच्छ शक्ति-2019 कार्यक्रम में देश भर से करीब 17 हजार महिला सरपंच-पंच हिस्सा लेंगी। हालांकि 21 हजार के करीब महिलाओं ने अपना पंजीकरण कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए कराया है। मेजबान हरियाणा प्रदेश से सबसे ज्यादा महिला सरपंच-पंच कार्यक्रम की शोभा बढ़ाएंगी। प्रदेश भर से करीब 12130 महिला सरपंच-पंच हिस्सा लें रही हैं। हालांकि प्रदेश भर में 13352 महिला प्रतिनिधि हैं, मगर अभी तक प्रशासनिक रिपोर्ट के मुताबिक केवल 12130 महिलाओं ने ही अपनी स्वीकृति कार्यक्रम में पहुंचने के लिए दी है।

इन प्रदेशों से हिस्सा ले रही हैं महिलाएं

हरियाणा सहित 30 प्रदेशों से 20111 महिलाएं स्वच्छ शक्ति कार्यक्रम में हिस्सा लेंगी। आंध्रप्रदेश से 65, अरुणाचल प्रदेश से 37, असम से 29, बिहार से 32, छत्तीसगढ़ से 72, दादर व नगर हवेली से 10, दमन व दीव से 9, गुजरात से 149, हिमाचल प्रदेश से 670, जम्मू एंड कश्मीर से 152, झारखंड से 536, कर्नाटक से 24, केरल से 6, मध्य प्रदेश से 1133, महाराष्ट्र से 79, मणीपुर से 21, मिजोरम से 21, मेघालय से 103, नागालैंड से 6, पांडीचेरी से 17, पंजाब से 466, राजस्थान से 1411, सिक्कम से 6, तमिलनाडू से 59, तेलंगाना से 161, त्रिपुरा से 33, उत्तर प्रदेश से 2282, उत्तराखंड से 1032 व दिल्ली से 109 महिला सरपंच-पंच स्वच्छ शक्ति कार्यक्रम में हिस्सा लेंगी।

यहां-यहां किया गया ठहरने का इंतजाम

जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी कपिल शर्मा ने बताया कि प्रशासन की ओर से स्वच्छ शक्ति कार्यक्रम में हिस्सा लेनी चाहिए महिलाओं के लिए ठहरने का पूरा बंदोबस्त किया गया है। 11 स्थानों पर महिलाएं रूकेंगे, इनमें जयराम विद्यापीठ में आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, तमिलनाडू से महिलाएं ठहरेंगी। गोडिय़ा मठ में बिहार, दादर एवं नगर हवेली, दमन व दीव, गुजरात से महिला शक्ति रूकेगी। ब्राह्मण धर्मशाला में छत्तीसगढ़ व पंजाब, जाट धर्मशाला में हिमाचल प्रदेश व झारखंड, सैनी धर्मशाला में जम्मू एंड कश्मीर व तेलंगाना, गुरु रामदास निवास सिख मिशन में कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, मणीपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पांडीचेरी, सिक्कम, बैरागी, गडरिया, कश्यप राजपूत व गुर्जर धर्मशाला में मध्य प्रदेश, कृष्णाधाम में राजस्थान, बिश्नोई धर्मशाला में त्रिपुरा, डेरा कार सेवा कंलदरीगेट करनाल में उत्तर प्रदेश तथा बिरला मंदिर व ब्रह्मपुरी आश्रम में उत्तराखंड से महिलाएं ठहरेंगी


Share it
Top