राफेल को लेकर मायावती ने PM मोदी पर साधा निशाना,कहा- सरकारी खर्च पर घूम-घूमकर 'चौकीदार' दे रहे सफाई

राफेल को लेकर मायावती ने PM मोदी पर साधा निशाना,कहा- सरकारी खर्च पर घूम-घूमकर चौकीदार दे रहे सफाई

नई दिल्ली। राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पीएम मोदी पर हमलावर रहे हैं। राहुल गांधी ने राफेल को लेकर पीएम मोदी पर गंभीर आरोप लगाए और 'चौकीदार चोर है' बोलकर बीजेपी को घेरने की कोशिश की है। वहीं, अब बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी पीएम नरेंद्र मोदी पर राफेल डील को लेकर निशाना साधा है। मायावती ने आरोप लगाया कि 36 राफेल विमानों की खरीद भ्रष्ट रक्षा डील थी।

मायावती ने आरोप लगाया कि इसमें सरकार ने 'भ्रष्टाचार निरोधी धाराओं' को हटा दिया था। हाल ही में ट्विटर पर सक्रिय हुईं मायावती ने पीएम मोदी को घेरते हुए ट्वीट किया। राहुल गांधी की तर्ज पर मायावती ने ट्वीट किया, ' देशवासियों को ये तय करना है कि चौकीदार और उनकी कथित ईमानदारी का क्या करना है। मायावती ने पहली बार चौकीदार शब्द का इस्तेमाल करते हुए पीएम मोदी पर निशाना साधा।

मायावती ने ट्वीट किया, 'चौकीदार के लिए ईमानदारी, भ्रष्टाचार, राष्ट्रीय हित और राष्ट्रीय सुरक्षा सभी चीजों को दांव पर लगाया जा सकता है। ये चौकीदार सरकारी खर्च पर देश में घूम रहे हैं और दावा करते हैं कि वह ईमानदार हैं। द हिन्दू अंग्रेजी अखबार का राफेल में आज का नया विस्तृत रहस्योदघाटन फिर भी नो प्राब्लम। बीजेपी व आरएसएस वालों के लिये चौकीदार का महत्त्च है उसकी ईमानदारी का नहीं।


केन्द्र सरकार ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे में भ्रष्टाचार विरोधी प्रावधान को समाप्त कर दिया था- द हिन्दू अंग्रेजी अख़बार का राफेल में आज का नया विस्तृत रहस्योदघाटन फिर भी नो प्राब्लम। बीजेपी व आरएसएस वालों के लिये चौकीदार का महत्त्च है उसकी ईमानदारी का नहीं। 1/2

भ्रष्टाचार-मुक्ति, ईमानदारी, देशहित व राष्ट्रीय सुरक्षा सब कुछ चौकीदार पर न्योछावर। अब चुनाव के समय चौकीदार सरकारी ख़र्चे पर देश भर में घूम-घूम कर सफाई दे रहें है कि वह बेईमान नहीं है बल्कि ईमानदार है। देश को सोचना है कि ऐसे चौकीदार का आख़िर क्या किया जाये? 2/2

768 people are talking about this

केन्द्र सरकार ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे में भ्रष्टाचार विरोधी प्रावधान को समाप्त कर दिया था- द हिन्दू अंग्रेजी अख़बार का राफेल में आज का नया विस्तृत रहस्योदघाटन फिर भी नो प्राब्लम। बीजेपी व आरएसएस वालों के लिये चौकीदार का महत्त्च है उसकी ईमानदारी का नहीं।

भ्रष्टाचार-मुक्ति, ईमानदारी, देशहित व राष्ट्रीय सुरक्षा सब कुछ चौकीदार पर न्योछावर। अब चुनाव के समय चौकीदार सरकारी ख़र्चे पर देश भर में घूम-घूम कर सफाई दे रहें है कि वह बेईमान नहीं है बल्कि ईमानदार है। देश को सोचना है कि ऐसे चौकीदार का आख़िर क्या किया जाये?

मायावती हाल ही में ट्विटर से जुड़ी हैं। ट्विटर पर आने के बाद वे बहुत सक्रिय हैं। लगभग हर राजनीतिक घटनाक्रम पर उनकी तरफ से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। राफेल पर भी आज उन्होंने पीएम मोदी को घेरा। राफेल को लेकर बीजेपी पर विपक्षी दल हमलावर हैं। तमाम विरोधी दल राफेल डील में घोटाले का आरोप लगाते रहें और जेपीसी जांच की मांग कर रहे हैं। जबकि सरकार का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट तक को इस डील में कोई कमी नहीं दिखी, विपक्षी दल केवल चुनाव नजदीक देखकर बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं।



Share it
Top