भाजपा सरकारों की सरपरस्ती में चलता है अवैध शराब का धंधा: प्रियंका गांधी

भाजपा सरकारों की सरपरस्ती में चलता है अवैध शराब का धंधा: प्रियंका गांधी

सहारनपुर : उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में जहरीली शराब पीने से 100 लोगों की मौत के बाद कांग्रेस की नवनियुक्त महासचिव प्रियंका गांधी ने बीजेपी पर जोरदार हमला बोला है। महासचिव बनाए जाने के करीब 2 हफ्ते बाद जारी अपने पहले आधिकारिक बयान में प्रियंका गांधी ने इस बात पर हैरानी जताई है कि उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की बीजेपी की सरकारों की सरपरस्ती में अवैध शराब का इतना बड़ा धंधा चल रहा है। हालांकि प्रियंका गांधी ने उम्मीद जताई है कि बीजेपी की सरकार है इस मामले में अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करेंगे और जहरीली शराब पीने से अपनी जान गवां चुके लोगों के परिवार वालों के लिए उचित मुआवजा देंगी।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में हुई घटना पर प्रियंका गांधी ने आधिकारिक रूप से बयान जारी करके साबित कर दिया है कि वह राष्ट्रीय राजनीति करने के लिए ही पार्टी में शामिल हुई हैंं। उनकी राजनीति का दायरा किसी खास क्षेत्र तक सीमित नहीं है। गौरतलब है कि प्रियंका गांधी को राहुल गांधी ने पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी महासचिव बनाया है। जबकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया हैंं। कांग्रेस में इस बात का बड़ा महत्व है कि महासचिवों को अपने प्रभार वाले राज्यों के मामलों में ही बयान देने की इजाजत होती है। राष्ट्रीय मुद्दों की बात अलग है। इस लिहाज से देखा जाए तो इस मामले पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का बयान आना चाहिए था। लेकिन प्रियंका गांधी ने बयान देने में पहल करके साबित कर दिया है कि पार्टी में राहुल गांधी के बाद वह खुद ही लीड रोल में रहेगी।

प्रियंका गांधी के इस पहले बयान की भाषा काफी संतुलित और संयमित है। यह बयान में प्रियंका गांधी ने बीजेपी पर हमला बोलने से ज्यादा इस बात को रेखांकित किया है कि इस घटना से वह व्यक्तिगत रूप से बेहद दुखी हैं जहरीली शराब पीने से मरने वालों के परिवार वालों के प्रति उन्होंने गहरी संवेदना जताई है। इस घटना के लिए सीधे सीधे बीजेपी को जिम्मेदार ठहराने के बजाय प्रियंका ने बड़ी चालाकी से यह बात लिखी है, 'दिल दहला देने वाली इस घटना की जितनी निंदा की जाए कम है। उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश सरकार की सरपरस्ती में अवैध शराब का इतना बड़ा कारोबार संचालित होता है यह कल्पना भी नहीं की जा सकती।'

अपने बयान की शुरुआत प्रियंका गांधी ने इस घटना पर गहरा दुख जताकर की है।

प्रियंका का पूरा बयान इस तरह है:

'मैं यह जानकर स्तब्ध और बेहद दुखी हूँ कि जहरीली शराब से उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के सहारनपुर, कुशीनगर और कई गाँवों में 100 से ज़्यादा लोगों की मृत्यु हो चुकी है और मरने वालों का सिलसिला लगातार जारी है। '

'दिल दहला देने वाली इस घटना की जितनी निंदा की जाए कम है । उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश सरकार की सरपरस्ती में अवैध शराब का इतना बड़ा कारोबार संचालित होता है यह कल्पना भी नहीं की जा सकती ।'

'मैं उम्मीद करती हूँ कि भाजपा सरकारों द्वारा अपराधियों के खिलाफ़ सख़्त कार्यवाही की जाएगी एवं मृतकों के परिजनों के लिए उचित मुआवज़ा और सरकारी नौकरी का प्रावधान किया जायेगा।'

'इतनी दुखद घटना के बारे में सुनकर मैं अत्यंत व्यथित हूँ और शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएं प्रकट करती हूँ।'

लखनऊ में होने वाली रैली से एक दिन पहले बयान जारी करके प्रियंका गांधी ने साफ संकेत दे दिया है कि वह रैली में इस मुद्दे को जोर शोर से उठाएंगी। ग़ौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उत्तर प्रदेश के दोनों नवनियुक्त महासचिवों ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रियंका गांधी के साथ लखनऊ में पहली रैली कर रहे हैं। इस रैली के दौरान जहरीली शराब से हुई मौत के मुद्दे पर बीजेपी की योगी सरकार पर कांग्रेस की तरफ से जोरदार हमला बोला जा सकता है। प्रियंका गांधी के इस बयान से इस तरह के संकेत मिलते हैंं कि वो रैली में इसके लिए योगी सरकार को निश्चित तौर पर कटघरे में खड़ा करेंंगी। राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ लखनऊ एयरपोर्ट से प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय तक रोड शो करते हुए जाएंगे। इस रोड शो का मकसद उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की ताकत का एहसास कराना है। लिहाजा इस बात की पूरी संभावना है कि ज़हरीली शराब पीने से हुई सौ लोगों की मौत के मुद्दे को उठाने में कांग्रेस कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

Share it
Top