बिहार बोर्ड: 12वीं की परीक्षा शुरू, चोरी रोकने के लिए काफी कड़े इंतेजाम, जूता-मोजा भी बैन

बिहार बोर्ड: 12वीं की परीक्षा शुरू, चोरी रोकने के लिए काफी कड़े इंतेजाम, जूता-मोजा भी बैन

पटना : बिहार में बुधवार छह फरवरी से बिहार विद्यालय परीक्षा समिति यानी बीएसईबी या बिहार बोर्ड द्वारा आयोजिक 12वी की परीक्षा (इंटरमीडिएट) का आयोजन शुरु हुआ। शांतिपूर्ण ढंग से नकल रहित परीक्षा के लिहाज से सभी परीक्षा केंद्रों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है।

इस साल परीक्षा के लिए कुल 1,339 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इस साल की परीक्षा में 13,15,371 छात्र-छात्राएं शामिल हो रहे हैं जिसमें 7,62,153 छात्र हैं। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर के अनुसार, 12वीं की परीक्षा को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि, सभी परीक्षा केंद्रों के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। साथ ही बीएसईबी ने निर्देश दिया है कि पिछले साल की तरह इस साल भी परीक्षार्थियों के लिए जूता-मोजा पहनकर परीक्षा कक्ष में प्रवेश करने वर्जित है। इसके अलावा परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने से पहले परीक्षार्थियों की सघन तलाशी के भी निर्देश दिए गए हैं।


बोर्ड द्वार दिए गए निर्देशों के अनुसार, परीक्षा शुरू होने के 10 मिनट पहले तक ही परीक्षार्थियों को परीक्षा कक्ष में प्रवेश करने दिया जाए। वहीं परीक्षा केंद्र के अधीक्षक के अलावा अन्य हर किसी को मोबाइल फोन उपयोग करने की इजाजत नही है। परीक्षा केंद्र के अंदर किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिकडिवाइस पर रोक लगा दी गई है।


इसके अलावा हर परीक्षा केंद्र पर एक नियंत्रण कक्ष भी बनाये गए हैं। जबां अभिभावक, छात्र या शिक्षा विभाग का कोई भी पदाधिकारी जानकारी प्राप्त कर सकता है। बता दें कि इंटरमीडिएट की परीक्षा छह फरवरी से शुरू होकर 16 फरवरी तक चलेगी।

Share it
Top