21 मार्च को मनाई जाएगी होली, जानिए होलिका दहन के शुभ मुहूर्त के साथ ये कुछ पौराणिक नियम

21 मार्च को मनाई जाएगी होली, जानिए होलिका दहन के शुभ मुहूर्त के साथ ये कुछ पौराणिक नियम

नई दिल्ली : इस साल पूरे देश में होली का उत्सव 21 मार्च को मनाया जाएगा. रंगों के इस त्योहार से एक दिन पहले होलिका दहन किया जाता है. माना जाता है कि अगर आप दरिद्रता से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इस दिन शरीर पर उबटन लगाकर उसके अंश को होलिका में डालें. ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि आने के साथ गरीबी भी दूर होती है. होलिका दहन में लोग जौ और गेंहू के पौधे को आग में डालते है. बता दें, होली से 8 दिन पहले होलाष्टक लग जाता है इस बार होलाष्टक 14 मार्च से शुरू होकर 21 मार्च तक रहेेेगा।


बात अगर होलिका दहन के शुभ मुहूर्त की करें तो इस साल लोग होलिका दहन रात 9 बजे से रात 12 बजे के बीच में कर सकते हैं. दरअसल भद्रा काल के दौरान होलिका दहन नहीं किया जाता है. इस वर्ष भद्रा काल का समय 20 मार्च सुबह 10 बजकर 45 मिनट से शुरू होकर रात 9 बजे तक रहेगा. यही वजह है कि होलिका दहन के लिए पंडितों ने रात 9 बजे के बाद का समय दिया है.

होली के अगले दिन दुल्हंडी का उत्सव मातंग योग में मनाया जाएगा. दोनों दिन क्रमश: पूर्वा फागुनी और उत्तरा फागुनी नक्षत्र पड़ रहे हैं. स्थिर योग में आने के कारण होली का शुभ पर्व माना गया है

इस साल पूरे देश में होली का उत्सव 21 मार्च को मनाया जाएगा. रंगों के इस त्योहार से एक दिन पहले होलिका दहन किया जाता है. माना जाता है कि अगर आप दरिद्रता से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इस दिन शरीर पर उबटन लगाकर उसके अंश को होलिका में डालें. ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि आने के साथ गरीबी भी दूर होती है. होलिका दहन में लोग जौ और गेंहू के पौधे को आग में डालते है. बता दें, होली से 8 दिन पहले होलाष्टक लग जाता है इस बार होलाष्टक 14 मार्च से शुरू होकर 21 मार्च तक रहेगा


Share it
Top