नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की चुनौती- नहीं बढ़ा आरक्षण तो दिखने लगेंगे पुराने दिनों के लक्षण

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की चुनौती- नहीं बढ़ा आरक्षण तो दिखने लगेंगे पुराने दिनों के लक्षण

नई दिल्ली : बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव दरभंगा में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। तेजस्वी दरभंगा के जीवछघाट के खेल मैदान से 'बेरोजगारी हटाओ, आरक्षण बढ़ाओ' रैली की शुरुआत करते हुए सवाल किया की पिछले 4 सालों में कितने बेरोजगारों को नौकरी मिली? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर साल 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन उसके बाद उन्होंने देश की जनता से कहा की पकोड़ा बेचो।

तेजस्वी ने अपने सम्बोधन में कहा कि समाज में सदियों से वर्ण व्यवस्था चल रही थी। कुएं से पानी लेने का हक़ गरीबों को नहीं था, ना ही ऊँची जाती के सामने बैठने का अधिकार था। फिर से वही व्यवस्था आ जाएगी, अगर आरक्षण व्यवस्था नहीं बढ़ी।

उन्होंने कहा की लोगों को इसका अधिकार मिले इसलिए हम यात्रा पर निकले हुए हैं, हम किसी के खिलाफ नहीं हैं। संबिधान खत्म करके नागपुरिया क़ानून लागू करना चाह रहे हैं। लालू यादव ने अंतिम पंक्ति में बैठे लोगों को सीने से लगाया है, लेकिन लोहिया के पद चिन्हों पर चलने वाले लोग आज मोदी के लोग बन गए हैं। यही कारण है की लालू आज भाजपा की आँखों में चुभ रही है, उन्हें फंसाकर जेल में भेज दिया गया और नीतीश इस योजना में शामिल थे।



Share it
Top