इन देशों में बच्चे पैदा करने पर सरकार देती है गिफ्ट ,आइए पढ़े खबर

इन देशों में बच्चे पैदा करने पर सरकार देती है गिफ्ट ,आइए पढ़े खबर

जापान : आपने अब तक जनसंख्या वृद्धि में रोक लगाने को लेकर ही सरकार के आदेश के बारे में सुना और पढ़ा होगा, लेकिन क्या कभी किसी देश में ज्यादा बच्चे पैदा करने के आदेश के बारे में सुना है. नहीं तो चलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसे ही एक देश के बारे में जो ना सिर्फ अपने देश के लोगों को ज्यादा बच्चे पैदा करने को कह रहा है बल्कि बच्चे पैदा करने पर उन्हें इनाम भी दे रहा है.



दरअसल, जापान अपने यहां जवान और बच्ची की संख्या में लगातार हो रही कमी से जूझ रहा है. इसीलिए यहां बुजुर्गों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है. यहां जन्म दर दिन ब दिन कम हो रही है. जापान के एक शहर ने इस समस्या से निपटने के लिए कई कदम उठाए हैं. यह शहर बच्चा पैदा करने वाले अपने नागरिकों को तमाम तरह की सुविधाओं के साथ-साथ नकद इनाम भी दे रहा है.बता दें कि दक्षिणी जापान में बसे नागी शहर की आबादी केवल 6000 है. ये शहर एक कृषि प्रधान शहर है. शहरों की भागदौड़ और तनाव से दूर यहां शांति है और लोगों की प्राथमिकता पैसा नहीं बल्कि अच्छा जीवन है. प्रशासन भी इस प्रयास में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेता है. साल 2004 से यहां बच्चा पैदा करने के लिए इनाम के तौर पैसा देकर लोगों को प्रोत्साहित किया जा रहा है.

बच्चों की संख्या के मुताबिक इनाम

नागी शहर में बच्चों की संख्या के मुताबिक लोगों को इनाम दिया जाता है. अगर परिवार में पहला बच्चा पैदा होता है, तो सरकार की ओर से एक लाख येन यानि करीब 63 हजार रुपये दिए जाते हैं. वहीं दूसरा बच्चा पैदा होने पर 1,50,000 येन यानि करीब 95,000 रुपये और परिवार में पांचवां बच्चा पैदा होने पर 4 लाख येन यानि करीब 2.5 लाख रुपये इनाम के तौर पर दिए जाते हैं. यही नहीं इसके अलावा सस्ते दाम पर घर, मुफ्त टीकाकरण, स्कूल दाखिले में भी छूट जैसी सुविधाएं दी जाती हैं.बता दें कि प्रशासन की इन कोशिशों की वजह से इस शहर की जन्म दर में बढ़ोतरी हुई है. बता दें कि साल 2005 से 2014 के बीच इस शहर में एक महिला द्वारा अपने जीवनकाल में औसत बच्चे पैदा करने की दर 1.4 से बढ़कर 2.8 तक दर्ज की गई है. हाल ही में हालांकि इस दर में थोड़ी गिरावट यानि 2.39 दर्ज की गई है. हालांकि इसके बावजूद यहां राष्ट्रीय दर 1.46 से काफी ज्यादा है.

इस शहर में संयुक्त परिवार को दी जाती है प्राथमिकता

यही नहीं इस शहर के लोग परिवार के साथ रहना पसंद करते हैं. 30 की उम्र से पहले ही शादी कर परिवार बसाने के बाद वे माता-पिता के साथ ही रहना चाहते हैं. दादा-दादी के साथ होने से बच्चों की देखभाल की चिंता भी नहीं सताती. इसके अलावा महिलाओं के लिए खासतौर से यहां पार्ट टाइम नौकरी की भी व्यवस्था है.

बुढ़ापे की ओर तेजी से बढ़ रहे जापान के लोग

बता दें कि बढ़ी संख्या में जापान की आबादी बुढ़ापे की ओर बढ़ रही है. यहां 12.3 फीसदी बच्चों की आबादी है. वहीं जापान की 20 फीसदी आबादी 65 साल से ज्यादा उम्र की है. जापान में इस साल अब तक 9,21,000 बच्चे पैदा हो चुके हैं. जो पिछले साल की तुलना में 25,000 कम है. वहीं जापान में इस साल 13 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो गई.


Share it
Top