आसिया बीबी के पति बोले, पाकिस्तान में रहना खतरे से खाली नहीं, लगाई अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से मदद की गुहार

आसिया बीबी के पति बोले, पाकिस्तान में रहना खतरे से खाली नहीं, लगाई अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से मदद की गुहार

दिल्ली । पाकिस्तान में ईशनिंदा के मामले में कोर्ट से राहत मिलने के बाद आसिया बीबी के पति ने पाकिस्तान से बाहर निकलने के लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से मदद की गुहार लगाई है। आसिया बीबी के पति आशिक़ मसीह ने अपने परिवार की जान को खतरा बताया है।

आशिक़ मसीह ने एक वीडियो सन्देश के ज़रिये अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, यूनाइटेड किंगडम और कनाडा के प्रधानमंत्री से पाकिस्तान से बाहर निकलने के लिए मदद मांगी है। आशिक़ मसीह ने पाकिस्तान सरकार द्वारा इस्लामी कट्टरपंथियों के साथ डील पर आपत्ति जताई है। पाकिस्तान सरकार ने कट्टरपंथियों के साथ समझौता किया, जिसके अंतर्गत आसिया बीबी को देश छोड़ने से रोकने के लिए यात्रा प्रतिबंध लगा दिया गया। बीबी की रिहाई के खिलाफ अदालत के साथ अब एक अपील दायर की गई है।

पिछले दिनों पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने आसिया बीबी को ईशनिंदा के केस में बरी कर दिया था। ईशनिंदा के आरोप में आसिया बीबी को 2010 में फांसी की सज़ा सुनाई गयी थी। पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट द्वारा आसिया बीबी को बरी किए जाने के फैसले के खिलाफ पाकिस्तान में बड़े पैमाने पर आंदोलन हुआ था। रूढ़िवादी इस्लामवादियों ने बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन शुरू किया। पूरे पाकिस्तान में तीन दिन तक जगह-जगह प्रदर्शन किये गए। इस दौरान सड़कों को अवरुद्ध कर दिया और यातायात को बाधित कर दिया।

आसिया बीबी के वकील ने शनिवार को पाकिस्तान छोड़ दिया था। आसिया के वकील 62 वर्षीय सैफ-उल-मुलूक ने अपनी जान को खतरा बतया। उन्होंने कहा की मौजूदा हालत में पाकिस्तान में रहना उनके लिए खतरे से खाली नहीं हैं। सैफ-उल-मुलूक ने बताया की उनको लगातार जान से मारने की धमकी मिल रही हैं।

Share it
Top