ये है बॉलीवुड का पसंदीदा गांव, हर गांववाले ने कर रखा है किसी न किसी फिल्म में काम

ये है बॉलीवुड का पसंदीदा गांव, हर गांववाले ने कर रखा है किसी न किसी फिल्म में काम

जोधपुर : राजा-महाराजाओं के भव्य किले, गीत-संगीत और पौराणिक मंदिर राजस्थान की धरोहर हैं। यहां के पर्यटन स्थलों को देखने के लिए दुनियाभर से सैलानी आते हैं। राजस्थान में भव्य शादियों का सिलसिला तो दशकों से चला आ रहा है लेकिन साथ ही यह राज्य फिल्मों की शूटिंग के लिहाज से भी पहली पसंद है। फिल्मों की बात करें तो राजस्थान में एक ऐसा गांव भी हैं जहां हर शख्स फिल्मों में एक्टिंग करता है। जोधपुर जिसे के मंडाला गांव के तकरीबन हर शख्स ने कभी न कभी, किसी न किसी का फिल्म में कोई भूमिका अदा की है। यहां के ग्रामीण खेती नहीं बल्कि एक्टिंग करते हैं। इसलिए बॉलीवुड के फिल्ममेकर इस गांव के लोगों के संपर्क में रहते हैं।

इस छोटे से गांव की आबादी करीब 55 हजार है। सलमान खान, शाहरुख खान, आमिर खान, संजय दत्त, अजय देवगन से लेकर शाहिद कपूर, करीना कपूर, रणबीर कपूर और अनुष्का शर्मा मंडावा में शूट कर चुके हैं।मंडावा गांव में फिल्मों की शूटिंग के अलावा एलबम, विज्ञापनों की शूटिंग होती रहती है। गांव में शूटिंग के कारण बेरोजगारी की समस्या नहीं हैं। शूटिंग के दौरान गांववालों को कोई न कोई काम मिलता रहता है। वास्तव में बॉलीवुड के निर्माता-निर्देशकों को यहां का परिवेश और स्थानीयता सूट करती है।

मंडावा के कुंवर शिवार्जुन सिंह मंडावा के मुताबिक पहली हिंदी मूवी जो यहां शूट हुई थी वह 1989 की फिल्म 'बटवारा' थी। इसके बाद 10 साल का गैप रहा। साल 1999 में अजय देवगन की कच्चे धागे फिल्माई गई। इसके बाद पहली (2005), जब वी मेट (2007) और लव आज कल (2009)। पिछले कुछ सालों में पीके (2014), बजरंगी भाईजान (2015), ए दिल है मुश्किल (2016) और मिर्जिया (2016) शूट हुई थी। अर्जुन कपूर और श्रद्धा कपूर की हाफ गर्लफ्रेंड की शूटिंग भी यहीं हुई।

क्‍या है खासियत

चूंकि यह गांव राजस्‍थान का है इसलिए यहां पुरातन हवेलियां अपने भव्‍य एवं सुंदर स्‍वरूप में मौजूद हैं। शूटिंग के लिए ऐसी लोकेशन परफेक्‍ट मानी जाती है। मुगलकाल की सभ्‍यता के निशान यहां अब तक मौजूद हैं, जो शूट किए जाते हैं। फिल्‍मकारों का यहां इतना रूझान देखते हुए लोगों ने अपने घरों की साज-संभाल शुरू कर दी है। इसे दुनिया में सबसे बड़ी ओपन आर्ट गैलरी के रूप में पहचाना जाता है। यहां 55 पुरानी हवेलियां है जो कि खूबसूरती से रंगी हुई है।


Share it
Top