97 लाख रुपए के नकली नोटों के साथ महिला हुई गिरफ्तार, कई राज्यों में है नेटवर्क

97 लाख रुपए के नकली नोटों के साथ महिला हुई गिरफ्तार, कई राज्यों में है नेटवर्क

देहरादून । पुलिस ने नकली नोटों का कारोबार करने वाले अंतर्राज्जीय गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने इस गिरोह की महिला समेत 6 लोगों को 97 लाख के नकली नोटों के साथ अरेस्ट किया है। नोटों की इतनी बड़ी खेप पुलिस को तब बरामद हुई जब यह गिरोह दिल्ली नंबर की कार से चेकिंग पॉइंट पर देखा गया। पुलिस ने गाड़ी रुकवाई तो ये लोग सकपका गए। पुलिस ने तभी कार को कब्जे में ​लिया और फिर कड़ी पूछताछ की। जहां इन लोगों के नेटवर्क और कारोबार का खुलासा हुआ।

आरोपितों ने अपने नाम सलमान, मनदीप शर्मा फाइटर कॉलोनी, साकेत थाना, दिल्ली एवं मदन शर्मा, राहुल, आकाश और भावना कृष्णा नगर थाना कोतवाली गंगनहर हरिद्वार बताया। पुलिस ने आरोपियों के विरुद्ध भारतीय नकली मुद्रा सहित धारा 420, 489 A से D भादवि में मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेजा है। वहीं, इतनी बड़ी कार्रवाई से प्रफुल्लित हुए देहरादून एसएसपी ने पुलिस टीम को पुरस्कृत किया।

पकड़ में आए गिरोह के इन सदस्यों ने पुलिस को बताया कि वे नकली नोटों को चलाने की फिराक में सहसपुर थाना क्षेत्र के अंदर ग्राहकों को ढूंढ रहे थे। यहां उन्हें पहले भी कई लोग मिल चुके थे। मगर, इस बार पुलिस ने पकड़ लिया। नोटों के साथ बरामद हुईं ये चीजें पुलिस को गिरोह के पास से 96 लाख 96 हजार के नकली नोटों के अलावाा बनाने वाले उपकरण, DL1CT 3837 नबंर वाली कार बरामद हुई।

भारी मात्रा में नकली नोटों के साथ गिरफ्तार हुए सलमान, मनदीप और भावना मिलकर दिल्ली में प्रॉपर्टी डीलर का काम करते थे। काम अच्छा न चलने के कारण इन्होंने दूसरा धंधा ढूंढने की कोशिश की। एक परिचित ने इनकी मुलाकात रुड़की निवासी मदन से कराई, जो अपने घर पर अपने बेटे राहुल और आकाश के साथ मिलकर 500 और 100 के नकली नोट बनाता था। वह लोगों से असली नोट लेकर उसके दुगुना नकली नोट देता। इस पर ये लोग उनके साथ हो लिए।

फिर सभी मिलकर दिल्ली, उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड समेत कई राज्यों में अपनी कार के जरिए घूम घूमकर ग्राहक तलाशने लगे। ग्राहकों को विश्वास में लेने के लिए अपने पास भारी मात्रा में दो हजार के चूरन वाले नोट भी रखते थे। जिन्हें ये लोग ग्राहकों को लालच देने के लिए इस्तेमाल करते थे।


Share it
Top