तंत्र साधना के लिए कर दी पत्नी की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

तंत्र साधना के लिए कर दी पत्नी की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

संबलपुर : तंत्र साधना के लिए मानव की हत्या जैसी वारदात सुनकर आम आदमी के रोंगटे खड़े हो जाते है। विज्ञान के इस युग में आज भी ऐसे अंधविश्वासी हैं जो अपनी जघन्य हरकतों से पूरे समाज पर कलंक बने हुए हैं। संबलपुर जिला के नाकटीदेउल थाना अंतर्गत हितसरा गांव में एक ऐसी ही घटना सामने आई है। तंत्र साधना के लिए दरिंदे पति ने अपने दो बच्चों की मां की हत्या कर दी। महिला का सड़ा गला शव मिलने के बाद शनिवार को पुलिस ने उसके पति चगला सेठी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पुख्ता सुबूत जुटाने के लिए रविवार को आरोपित को साथ लेकर जांच पड़ताल में जुटी रही।

इस घटना के बाद गांव वाले रोष में है। लोगों ने आरोपित को अपने हवाले करने की मांग की। ताकि सजा दी जा सके। ऐसे में पुलिस ने आरोपित की सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध कर लिए थे। जिले के नाकटीदेउल थाना अंतर्गत हितसरा गांव के दाशरथी मुंडा मोहल्ले का 40 वर्षीय चगला सेठी अपनी 37 वर्षीय पत्नी सुलोचना, 14 वर्षीय पुत्री संयुक्ता और 11 वर्षीय पुत्र बैकुंठ के साथ रहता था। गांव वालों के अनुसार पति पत्नी में अक्सर लड़ाई झगड़ा होता रहता था। वह गांव वालों को भी परेशान करता था और तंत्र मंत्र का भय दिखाता था।पूछताछ में पुलिस को पता चला कि वह तंत्र मंत्र साधना कर बड़ा तांत्रिक बनना चाहता था। उसने अपने घर के पीछे एक पेड़ के नीचे साधना स्थल बना रखा था और प्रति रविवार और मंगलवार को वहां पूजा पाठ करता था। बताया जा रहा है कि गत मंगलवार की रात पुत्री व पुत्र के सो जाने पर चगला ने अपनी पत्नी की हत्या कर दी और शव घर से एक किमी दूर एक सुनसान स्थान पर ले गया। जहां उसने कुल्हाड़ी से पत्नी का एक हाथ काट दिया और उसे लेकर साधना स्थल पर पहुंचा और फूल, सिूंदर आदि पर हाथ से टपकता खून चढ़ाकर पूजा किया। बुधवार को सुबह पत्नी के कहीं चले जाने की बात बताकर उसने उसकी तलाश करने का नाटक रचा। इसबीच शुक्रवार की शाम को गांव वालों को गांव के बाहर एक महिला का शव पड़ा होने का पता चला और पुलिस को सूचित किया गया। बाद में शव की पहचान सुलोचना के रूप में की गई।घटना की खबर जब सुलोचना के भाई प्रसन्न बेहेरा को मिली तो उसने नाकटीदउेल थाना में अपने जीजा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दिया। इसके बाद शनिवार को पुलिस ने चगला को हिरासत में लेकर पूछताछ किया। तो उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया। वहीं, घटना की जांच के लिए हितसरा गांव पहुंची पुलिस और साइंटिफिक टीम को गांववालों ने काफी देर वहीं रोके रखा। लोग चगला को उनके हवाले करने की मांग कर रहे थे। हालांकि पुलिस टीम ने लोगों को समझा बुझा कर शांत किया। इसके बाद गांववालों ने पुलिस की जांच में पूरा सहयोग किया।


Share it
Top