TMC विधायक सत्यजीत की हत्या के मामले में BJP नेता मुकुल रॉय सहित चार लोगों पर FIR

TMC विधायक सत्यजीत की हत्या के मामले में BJP नेता मुकुल रॉय सहित चार लोगों पर FIR

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में स्थित कृष्णागंज से तृणमूल कांग्रेस के विधायक सत्यजीत बिश्वास की हत्या के मामले में बीजेपी नेता मुकुल रॉय सहित चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. पुलिस ने बताया कि एफआईआर में दर्ज चार आरोपियों में से दो को गिरफ्तार किया जा चुका है।


इसी कार्यक्रम में विश्वास जब मंच से उतर रहे थे, तभी हमलावरों ने उन्हें निशाना बनाते हुए गोली चला दी। पुलिस ने बताया कि विधायक बिस्वास को तुरंत स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

इस समारोह में टीएमसी की नदिया यूनिट के अध्यक्ष गौरीशंकर दत्ता और राज्य की मंत्री रत्ना घोष भी मौजूद थी. हालांकि खुशकिश्मती से वे दोनों गोलीबारी से कुछ ही मिनट पहले समारोह स्थल से जा चुके थे।

विधायक बिस्वास की हत्या के आरोप में पुलिस ने प्राथमिक जांच करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार किया है।ख़बरों के अनुसार, पुलिस ने इस हत्याकांड को लेकर जो प्राथमिकी दर्ज की है, उसमें भाजपा नेता मुकुल रॉय का भी नाम शामिल है। साथ ही हत्या के बाद हंसखली पुलिस स्टेशन के प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है।

नादिया जिला बांग्लादेश की बॉर्डर से जुड़ा हुआ है। कुछ समय से भाजपा ने यहां अपनी राजनीतिक गतिविधियां बढ़ाई है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सत्यजीत बिस्वास उस मतुआ समुदाय से जुड़े हुए थे, जिसका वोटबैंक तृणमूल कांग्रेस और भाजपा दोनों की जीत के लिए महत्वपूर्ण है।

नादिया जिले के तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष गौरीशंकर दत्ता ने हत्या का आरोप भाजपा और मुकुल रॉय के समर्थकों के उपर लगाया थी। हालांकि, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलिप घोष ने इस आरोप को बेबुनियाद और निराधार बताया है। उन्होंने इस हत्या के पीछे की वजह तृणमूल कांग्रेस की गुटबाजी बताई। लेकिन अब भाजपा नेता के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हो गई है।


Share it
Top