SUNSTAR TV

सितारों से जानिए कब बरसेंगे मेघ? सिवनी से मंडला जा रहे नाव नर्मदा नदी में पलटी, 5 लापता, 10 लोग को सुरक्षित निकाला गया DBS बैंक ने वित्त वर्ष 2020 के लिए भारत की जीडीपी वृद्धि दर के अनुमान को घटाया अवैध प्लाटिंग के खिलाफ कार्रवाई तेज, टेमरी में 4 एकड़ रकबे से हटाया अवैध प्लाटिंग मंत्री जयसिंह अग्रवाल पहुंचे कांग्रेस कार्यालय, आम लोगों और कार्यकर्ताओं से मिलकर की चर्चा अंबानी खानदान की बहू श्लोका मेहता रॉयल लुक में आई नजर ट्रैफिक मैनेज के नाम पर किया करते थे अवैध वसूली, 6 पुलिसकर्मियों पर हुई बड़ी कार्रवाई दीपिका पादुकोण ग्रीन रेट्रो लुक आई नजर,एक बार फिर अपनी खूबसूरती से लगा दिए चार चांद वाराही धाम:भगवान विष्णु ने लिया वाराह अवतार,वह धाम जहां होता है रक्षाबंधन पर पत्थर युद्ध शिखर धवन वर्ल्ड कप 2019 से हुए बाहर, ऋषभ पंत को टीम में मिली जगह 30 साल पुराने मामले में चर्चित पूर्व आईपीएस संजीव भट्ट को उम्रकैद 20 जून 2019 का राशिफल:राशि के अनुसार जानिए कैसा रहेगा आपका दिन योग का सम्मान नहीं करने पर कांग्रेस हुई सत्ता से बाहर : बाबा रामदेव बंगाल में फिर डॉक्टरों की पिटाई, नाराज परिजनों का अस्पताल में हंगामा तमिलनाडु में पानी की किल्लत, स्कूल-दफ्तरों पर असर, प्रदर्शन तेज सुकमा : नक्सल प्रभावित क्षेत्र में हालात का जायजा लेने बाइक पर निकले कलेक्टर-एसपी शाह ने अपने राज्य मंत्रियों की बढ़ाई जिम्मेदारी, ट्रांसफर-पोस्टिंग, J-K समेत दिए ये काम इमरान की चिट्ठी पर PM नरेंद्र मोदी का जवाब, आतंक का छोड़ो साथ, तभी बनेगी बात संसद में राष्ट्रपति के संबोधन के बाद बोले राहुल गांधी- मेरा रुख आज भी वही, राफेल सौदे में चोरी हुई संसद में बोले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, 'तीन तलाक और हलाला को हटाना है'; पढ़ें संबोधन की 10 खास बातें

लोकसभा चुनाव: भाजपा के पक्ष में आए अप्रत्याशित चुनावी परिणाम आम जनता के गले नहीं उतर रहे हैं: मायावती

Bhojesh Sahu 24-05-2019 17:14:49



लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद ईवीएम को लेकर हमला बोलते हुए कहा कि जनता का विश्वास इससे हट गया है। उन्होंने कहा कि गठबंधन ने जो सीटें उत्तर प्रदेश में जीती हैं वहां इन लोगों ने ईवीएम में गड़बड़ी नहीं कराई ताकि जनता को शक न हो। उन्होंने कहा कि गठबंधन की पार्टियों बसपा, सपा और रालोद के सभी छोटे बड़े कार्यकर्ताओं ने पूरे तन-मन-धन से मेहनत और लगन से लगातार काम किया है। सभी का आभार प्रकट करती हूं खासकर सपा के प्रमुख अखिलेश यादव, रालोद के अजित सिंह ने अपनी पूरी ईमानदारी से काम किया है।

उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 64 सीटें भाजपा और उसके सहयोगी दल को मिली हैं, सपा-बसपा-रालोद गठबंधन को 15 और कांग्रेस  को एक सीट मिली है। अलग-अलग सीटों की बात करें तो समाजवादी पार्टी को 05 और बसपा को 10 सीटें मिली हैं। मायावती ने चुनाव के परिणाम आने के बाद शाम को मीडिया से कहा, देश के राजनीतिक इतिहास में कई महत्वपूर्ण परिवर्तन देखे हैं समाज के दलित उपेक्षित वर्गों की सत्ता में भागीदारी भी बढ़ी है लेकिन इसे भी अब ईवीएम के माध्यम से सत्ताधारी पार्टी (भाजपा एंड कंपनी) ने पूरे तौर से हाईजैक कर लिया है।

उन्होंने कहा, ईवीएम से चुनाव कराने की यह कैसी व्यवस्था है जिसमें अनेकों प्रमाण हमारे सामने आए हैं इसलिए पूरे देश में ईवीएम का लगातार विरोध हो रहा है, और इन नतीजों के बाद से तो जनता का इस पर से काफी कुछ विश्वास ही खत्म हो जाएगा। जबकि इस मामले में देश की अधिकतर पार्टियों का चुनाव आयोग में यह कहना रहा है कि ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से चुनाव कराएं। चुनाव आयोग और भाजपा को इस पर आपत्ति क्यों होती है। न तो चुनाव आयोग तैयार है और न ही भाजपा मानने को तैयार है तो इसका मतलब कुछ तो गड़बड़ है।

उन्होंने कहा, जब मतपत्र की व्यवस्था नहीं है तो जनता ईवीएम में वोट डालती है लेकिन जनता इससे संतुष्ट नहीं है। आज पूरे देश में जनता यह देख रही है और मुझे नहीं लगता कि जिस तरीके के नतीजे देश में आए हैं वह लोगों के गले से नहीं उतर रहा है। अधिकतर सभी पार्टियां चुनाव आयोग से लगातार कह रही हैं कि वह ईवीएम के बजाय मतपत्र से चुनाव कराएं तो फिर चुनाव आयोग और भाजपा को इस पर आपत्ति क्यों हो रही है। जब कोई गड़बड़ नहीं है, दिल में कोई काला नहीं है तो क्यों नही मतपत्र से चुनाव कराए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा, चुनावों मतपत्र से कराए जाने की मांग पर माननीय सुप्रीम कोर्ट को भी गंभीरता से विचार करना चाहिए, ऐसी हमारी माननीय सुप्रीम कोर्ट से भी पुरजोर मांग है। अपने गठबंधन के एक रहने का संदेश देते हुए मायावती ने कहा, देश में अप्रत्याशित परिणामों के बारे मे आगामी रणनीति बनाने के लिए हमारे गठबंधन बसपा-सपा और रालोद तथा हमारी तरह पीडि़त अन्य पार्टियों के साथ भी मिलकर आगे की रणनीति तय की जाएगी। ऐसा नहीं कि हम चुप बैठ जाएंगे। भाजपा के पक्ष में आए अप्रत्याशित चुनावी परिणाम पूरी तरह से आम जनता के गले के नीचे से नही उतर पा रहे है।

Share On Facebook

Comments

Subscribe

Receive updates and latest news direct from our team. Simply enter your email below :